आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   Satta ke galiyaron main

मेरे अल्फाज़

सत्ता के गलियारों में

Chandrahas Shakya

15 कविताएं

39 Views
सत्ता के गलियारों में

बैठाकर कंधों पर जिसको
बाप बड़ा जिसे करता है
आज उसी की शैय्या में
जब बाप का कंधा होता है
उस बिखरे दिल को कौन सँवारे
कौन भरे उन जख्मों को
जो जख्मों का सौदा करते हैं
कैसे रोकें उन गिद्धों को
उन गिद्धों की बातें सुनकर
जब शहर मेरा दहकता है
सत्ता के गलियारों में
तब रोज जश्न सा होता है

टक टकी बांधें हैं अखियाँ
राह तकें निज अपने की
धर्म युद्ध की भेंट चढ़ गया
कैसे पाएं सुध उस बेटें की
जिस माँ ने खोया है बेटा
उस मां का आँचल रोता है
पर तख्तों के सौदागरों को
दंगों से फर्क क्या पड़ता है
शाम को उड़ती खबरों से
फिजाओं का रुख बदलता है
सत्ता के गलियारों में
तब रोज जश्न सा होता है

धर्मों में भेद की बात नहीं
पर जो धर्मों में स्वार्थ देखते हैं
निज स्वार्थ से ऊपर न उठकर
कानो में जहर जो घोला करते हैं
उस काल विष से दूषित होकर
जब चेहरा कोई ढक जाता है
मासूमियत सा जीवन उसका
जब हिंसा का वृक्ष बन जाता है
उस राजनीति की कुंठा में
जब देश मेरा जब जलता है
सत्ता के गलियारों में
तब रोज जश्न सा होता है

बहुत हुई ये हिंसक झड़पें
अब बहुत उड़ लिया ये धुआं
क्यों मूँद ली आंखे तुमने
क्यों उजाड़ा घर ही अपना
गीदड़ों के उकसाने से
यूँ शेर नहीं धैर्य खोते
जो हाथ थे राष्ट्र की शक्ति
वो राष्ट्र विरोध में नहीं उठते
क्यों जकड़े हो जंजीरों में
तोड़ चलो अब जाग उठो
होकर एकत्रित तुम देश के लालो
नव भारत का निर्माण करो


- हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!