आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Mere Alfaz ›   o bharat ki santano jago

मेरे अल्फाज़

ओ भारत की संतानों जागो

194 Views
सोये हुये नादानों जागो
ओ सोये हुये नादानों जागो,
ओ भारत की संतानों जागो
परिवर्तन का सूर्य उगा है,
नींद भगाओ लम्बी न तानों।
ओ माझी तूफान से लड़ने वाले
देश सारा ड़ूब रहा है उसे बचाले।
तोड़ सभी रूढियों की कच्ची रस्सी
इन रस्सियों को, आज जरा आजमाले।
परिवर्तन का तूफान उठा है,
पतवार उठाओं बाधमान तानों।
सगाई मगनी छोड़ छुट्टी
बंद से बहुत रही आपस में कुट्टी
बाहर करते आये मन-मर्जी
घर में भले रहे नाराजी।
अपना घर तो संभाल न पाये,
दूजा घर क्यों तोड़ने की ठानों॥
अहंकार की झूठी शान ने
गरीब कमजोरों को नहीं छोड़ा है
पंच-परमेश्वर पंचायत ने
भ्रष्ट चरित्र को ओढ़ा है।
पंचायत की मर्यादाओं को, आज बचाओ ओ परवानों।
दूध के लिये बच्चे अकुलाते
शराब पीकर तुम मस्ताते
नाच रही है घर-घर में भूख
तुम नवाब बने इतराते खूब।
नवाब बनने से पहले,
बनो श्रमिक घर इन्द्रासन तानों।
दगावाज मक्कारों ने
खूब बंबड़र मचाया है
निर्माण करो फौजी अरमानों को
इससे जुल्म का ठेकेदार घबराया है
राह के कांटे हटा के यारों, फूल बिछाने की तुम ठानों।
खिसियानी बिल्ली सी तुनक मिजाजी छोड़ो,
उछलकूद बंदरवाजी छोड़ो,
देश तोड़ने वालों के सिर फोड़ो
परिवर्तन के हर अटके रोड़े तोड़ो।
भेड़िया नहीं शेर बनो तुम,
बनो फौलादी जंगवानो।
इंसानियत की लाश बिछायी
आज धर्म के ठेकेदारों ने
संवेदनाओं में आग लगायी
घर के भेदी मक्कारों ने
आग बुझाओ दिल को मिलाओ,
संगठित होने का प्रणठानों।
अक्ल के अंधे अज्ञानियों को
तुमने ताज पहनाया है
ज्ञानी बैठा सुबक रहा है
जोर उसने अपना आजमाया है।
जरा तो चेतो अज्ञानियों से,
ज्ञान को सबल बनाओ ओ ज्ञानवानों।
नेतृत्व यहां बीमार पड़ा है
कुछ अलग बनाओ अपना तकाजा
कहीं अर्थी न उठानी पड़ जाये
उसमें मिलाओ अपना खून ताजा।
समय तुम्हें पुकार रहा है,
निष्ठा लाओ ओर नेतृत्व लाओ


हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!