आपका शहर Close
Hindi News ›   Kavya ›   Main Inka Mureed ›   kumbh mela 2019 special poem by kailash gautam amausa ka mela
कुंभ मेला 2019 पर पढ़िए कैलाश गौतम की मशहूर रचना : अमौसा के मेला

मैं इनका मुरीद

कुंभ मेला 2019: पढ़िए कैलाश गौतम की मशहूर रचना- अमौसा के मेला

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

9206 Views
कैलाश गौतम की रचनाएं वस्तुतः समय के सच को रेखांकित करते हुए, चुनौतियों में जूझते हुए आम जनमानस की ही आवाज हैं ! लोकबोली की मिठास के साथ ही तीज-त्योहारों हंसी- ख़ुशी और पनप रहा फीकापन भी है। महंगाई की मार है तो रिश्तों की मिठास-खटास भी। हर साल इलाहाबाद में कुंभ का आयोजन होता है और दूर-दूर से लोग गंगा स्नान के लिए प्रयाग आते हैं। कैसे-कैसे लोग आते हैं, आने की तैयारी से लेकर घर वापसी तक, रेलवे स्टेशन की भीड़, मेले का उत्साह, भूले-बिछुड़े लोगों का मेले में मिलन इत्यादि का इस कविता में बहुत रोचक वर्णन है। 

भक्ति के रंग में रंगल गाँव देखा,
धरम में, करम में, सनल गाँव देखा
अगल में, बगल में सगल गाँव देखा,
अमौसा नहाये चलल गाँव देखा

भक्ति और धर्म में मशगूल होकर गांव भर के लोग अमौसा नहाने (कुंभ स्नान) चल चुके हैं। 

एहू हाथे झोरा, ओहू हाथे झोरा,
कान्ही पर बोरा, कपारे पर बोरा
कमरी में केहू, कथरी में केहू,
रजाई में केहू, दुलाई में केहू

इस हाथ में भी झोला, उस हाथ में भी झोला है, कंधे पर बोरी, सर पर बोरा, कोई कथरी में है तो कोई रजाई में। 

आजी रँगावत रही गोड़ देखा,
हँसत हँउवे बब्बा, तनी जोड़ देखा
घुंघटवे से पूछे पतोहिया कि, अईया,
गठरिया में अब का रखाई बतईहा

दादी तैयारी में हैं और पैर में रंग लगवा रही हैं, दादा देखकर हंस रहे हैं, घूंघट के अंदर से बहू पूछ रही है कि गठरी में और क्या क्या रखें।  आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!