आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Kavya Charcha ›   Well known poet of Urdu mushaira and noted lyricist Kaif Bhopali
Well known poet of Urdu mushaira and noted lyricist Kaif Bhopali

काव्य चर्चा

कै़फ़ भोपाली : मोहब्बत का वो रेशमी अफसाना, चलो दिलदार चलो...

रत्नेश मिश्र, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

1237 Views
चलो दिलदार चलो चाँद के पार चलो
हम हैं तैयार चलो 

आओ खो जाएं सितारों में कहीं 
छोड़ दें आज ये दुनिया ये ज़मीं
दुनिया ये ज़मीं
चलो दिलदार चलो चाँद के पार चलो
हम हैं तैयार चलो

हम नशे में हैं सम्भालो हमें तुम
नींद आती है जगा लो हमें तुम
जगा लो हमें तुम
चलो दिलदार चलो चाँद के पार चलो
हम हैं तय्यार चलो


अपने जमाने के अजीम फनकार कैफ़ भोपाली साहब जब नामचीन फिल्म निर्माता कमाल अमरोही की सोहबत में आए और फिल्म 'पाकीजा' के लिए उन्होंने 'चलो दिललार चलो...' लिखा और मोहम्मद रफी ने इस गीत को अपनी आवाज देकर अमर कर दिया तो जमाने को कै़फ़ साहब की तलब होने लगी।  आगे पढ़ें

'पाकीजा' के लिए लिखे कालजयी गीत

Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!