आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Kavya Charcha ›   Valentine day 2018 gulzar 5 famous poetry on love
Valentine day 2018 gulzar 5 famous poetry on love

काव्य चर्चा

ग़ुलज़ार की इन 5 नज़्मों में छिपी है अनकही मोहब्बत...

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

4722 Views
सफ़ेद पैरहन के भीतर धड़कता एक शायर दिल जिसकी ज़ुबान में शीरे की महक आती हैं। जो नज़्मों की ऊंगलियां पकड़ कभी बादलों पर सैर करता है तो कभी ग़ज़लों के साथ दिल बहलाने के लिए चांद-तारों को निहारता है। एक लेख़क जिसकी कलम शब्दों के साथ ऐसे ख़ेलती है कि देखने और पढ़ने वाले दोनों का दिल बहल जाए। जो हिन्दी की किताबों में उर्दू की जिल्द चढ़ाते हैं वो ग़ुलज़ार हैं। अपने नाम के समरूप जिन्होंने फ़िज़ा को भी ग़ुलज़ार कर दिया। आप भी उनके शब्द-सागर में डुबकी लगाइए।
आगे पढ़ें

हाथ छूटे भी तो रिश्ते नहीं छोड़ा करते...

Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!