आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Kavya Charcha ›   shrikant verma hindi kavita
shrikant verma hindi kavita

काव्य चर्चा

श्रीकांत वर्मा की कलम से निकली कविताओं की चुनिंदा पंक्तियां

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

1496 Views
कुछ का व्यवहार बदल गया
कुछ का नहीं बदला
जिनसे उम्मीद थी, नहीं बदलेगा
उनका बदल गया
जिनसे आशंका थी,
नहीं बदला
जिन्हें कोयला मानता था
हीरों की तरह 
चमक उठे
जिन्हें हीरा मानता था
कोयलों की तरह 
काले निकले। आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!