आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Kavya Charcha ›   meena kumari selected ghazal
meena kumari selected ghazal

काव्य चर्चा

मशहूर अदाकारा मीना कुमारी जो शायरी भी कहती थीं, पढ़ें 3 चुनिंदा ग़ज़लें

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

535 Views
चांद तन्हा है आसमां तन्हा,
दिल मिला है कहां-कहां तन्हा

बुझ गई आस, छुप गया तारा,
थरथराता रहा धुआं तन्हा

ज़िन्दगी क्या इसी को कहते हैं,
जिस्म तन्हा है और जां तन्हा

हमसफ़र कोई गर मिले भी कभी,
दोनों चलते रहें कहां तन्हा

जलती-बुझती-सी रौशनी के परे,
सिमटा-सिमटा-सा एक मकां तन्हा

राह देखा करेगा सदियों तक
छोड़ जाएंगे ये जहां तन्हा। आगे पढ़ें

2

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!