आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Kavya Charcha ›   famous hindi shayari
क्या खरीदोगे ये बाजार बहुत महंगा है: राहत इंदौरी

काव्य चर्चा

अलग-अलग मिज़ाज के 20 बेहतरीन शेर...

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

6405 Views
शायरी मुख़्तलिफ ज़ुबानों और संस्कृतियों को एक कर देती है। इश्क़ की अपनी जरूरतें होती हैं सियासत की अपनी, लेकिन शायरी सब पर नज़र रखती है । शायरी दिल की ज़ुबान है। पेश है 20 अलग-अलग मिज़ाज के शेर...
 
एक मुद्दत से चराग़ों की तरह जलती हैं 
इन तरसती हुई आंखों को बुझा दो कोई 
~साक़ी फ़ारूक़ी 

दोनों ही तो सच्चे थे इल्ज़ाम  किसे देते 
कानों ने कहा सहरा आंखों ने सुना पानी 
~अहमद मुश्ताक़ आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!