आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Viral Kavya ›   social media poetry related to tree
सोशल मीडिया: विचार ही वो बीज हैं, जिनसे अंकुरित होती है कविता।

वायरल

सोशल मीडिया: विचार ही वो बीज हैं, जिनसे अंकुरित होती है कविता

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

223 Views
कविता पेड़ ही तो है,
एक संपूर्ण पेड़,
जैसे पेड़ उगता है धरती का सीना चीरकर,
ठीक उसी तरह कविताएं एक कवि का सीना चीरकर निकलती हैं,
कविताओं के अंकुरित होने से उग आने की प्रक्रिया में,
 लहूलुहान हो जाता है कवि,
और वो जितना लहूलुहान होता है,
कविता बनती है उतनी ही सुदृढ़ उतनी ही सशक्त, आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!