आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   sawan 2020: Mohammad Alvi poetry dhoop se guzarish ki ek boond barish ki
धूप ने गुज़ारिश की  एक बूँद बारिश की:  मोहम्मद अल्वी

इरशाद

धूप ने गुज़ारिश की  एक बूँद बारिश की: मोहम्मद अल्वी

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

195 Views
धूप ने गुज़ारिश की 
एक बूँद बारिश की 

लो गले पड़े काँटे 
क्यूँ गुलों की ख़्वाहिश की 

जगमगा उठे तारे 
बात थी नुमाइश की  आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!