आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   Sarveshwar Dayal Saxena poetry on winter nature
Sarveshwar Dayal Saxena poetry on winter nature

इरशाद

बहुत दिनों बाद मुझे धूप ने बुलाया...सर्वेश्वर दयाल सक्सेना

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

601 Views
सर्वेश्वर दयाल सक्सेना
सरल शब्दों में गहरी बात कह देने वाले सर्वेश्वरदयाल का काव्य सभी को प्रसन्न कर देता है। प्रकृति से समाज पर सक्सेना ने काफी गहरी कविताएं लिखी हैं। 

बहुत दिनों बाद मुझे धूप ने बुलाया
तात जल नहा पहन श्वेत वसन आयी
खुले लान बैठ गयी दमकती लुनायी
सूरज खरगोश धवल गोद उछल आया।
बहुत दिनों बाद मुझे धूप ने बुलाया।
आगे पढ़ें

पड़ा हरा फूल कढ़ा मेजपोश पीला...

Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!