आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   Mohsin Asrar love ghazal mujhe malal bhi usi taraf se hota hai
मुझे मलाल भी उस की तरफ़ से होता है: मोहसिन असरार

इरशाद

मुझे मलाल भी उस की तरफ़ से होता है: मोहसिन असरार

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

2132 Views
मुझे मलाल भी उस की तरफ़ से होता है 
मगर ये हाल भी उस की तरफ़ से होता है 

मैं टूटता भी हूँ और ख़ुद ही जुड़ भी जाता हूँ 
कि ये कमाल भी उस की तरफ़ से होता है 

पुकारता भी वही है मुझे सफ़र के लिए 
सफ़र मुहाल भी उस की तरफ़ से होता है  आगे पढ़ें

सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!