कुमार अंबुज की कविता: एक स्त्री पर कीजिए विश्वास 

कुमार अंबुज की कविता: एक स्त्री पर कीजिए विश्वास
                
                                                             
                            जब ढह रही हों आस्थाएं
                                                                     
                            
जब भटक रहे हों रास्ता
तो इस संसार में एक स्त्री पर कीजिए विश्वास आगे पढ़ें

2 weeks ago
Comments
X