आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   khumar barabankvi irshad on amarujala kavya
khumar barabankvi irshad on amarujala kavya

इरशाद

ख़ुमार बाराबंकवी: वही फिर मुझे याद आने लगे हैं...

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

851 Views
ख़ुमार बाराबंकवी की गजलों को गजल गायकों ने अपने सुर में उतारा है। हरिहरन ने बाराबंकवी की एक गजल...वही फिर मुझे याद आने लगे हैं, जिन्हें भूलने में जमाने लगे हैं... बहुत ही गहराई से गाया है।  

वही फिर मुझे याद आने लगे हैं 
जिन्हें भूलने में ज़माने लगे हैं 



  आगे पढ़ें

मोहब्बत के होश अब ठिकाने लगे हैं...

Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!