आपका शहर Close
Home ›   Kavya ›   Irshaad ›   best poem of multi talented poet and musician piyush mishra
best poem of multi talented poet and musician piyush mishra

इरशाद

कल तलक तो ख़ाक था और रास्ते की धूल था

काव्य डेस्क, नई दिल्ली

1082 Views
कल तलक तो ख़ाक था 
और रास्ते की धूल था 
एक डाली से गिरा 
ठोकर में लिपटा फूल था...

ये ग़ज़ब कैसे हआ 
कि इन्तिहा को छू लिया 
ढाई आखर प्रेम का 
पढ़ के ख़ुदा को छू लिया...

चिलमनों का ओट में 
बैठी नज़ाकत हिल गई 
कुदरतों ने होश खोये 
उफ़ क़यामत हिल गई...

तूने गौतम और ईसा
के जहां को छू लिया 
तूने राधा और मीरा 
के मकां को छू लिया....

- पीयूष मिश्रा  
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top
Your Story has been saved!