आपका शहर Close
Kavya Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Hasya ›   kaka hathrasi hasya kavita college student
college students

हास्य

काका हाथरसी: लल्लू मेरा बन गया कालिज स्टूडैंट...

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

288 Views

फादर ने बनवा दिये तीन कोट¸ छै पैंट¸
लल्लू मेरा बन गया कालिज स्टूडैंट।
कालिज स्टूडैंट¸ हुए होस्टल में भरती¸
दिन भर बिस्कुट चरें¸ शाम को खायें इमरती।
कहें काका कविराय¸ बुद्धि पर डाली चादर¸
मौज कर रहे पुत्र¸ हडि्डयां घिसते फादर।

आगे पढ़ें

पढ़ना–लिखना व्यर्थ है...

Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Your Story has been saved!