आपका शहर Close
Hindi News ›   Kavya ›   Halchal ›   Meet Aparan and Gaurav in comedy and poetry program Papa Ke Pare
अपनी कविताओं और हास्य के जरिए आपको गुदगुदाने आ रहे हैं अपर्ण और गौरव

हलचल

अपनी कविताओं और हास्य के जरिए आपको गुदगुदाने आ रहे हैं अपर्ण और गौरव 

अमर उजाला, काव्य डेस्क, नई दिल्ली

218 Views
आप सभी ने मां के लाल और पापा की परी के बारे में भलीभांति सुना होगा। पर क्या आपने कभी “पापा के परे” नामक शब्द सुना है ? मां के बारे में आप अपने जीवन में काफी चर्चा व बातचीत करते होंगे, पर क्या आपने अपने पापा की ज़िंदगी के बारे में कभी सोचा है ? हमारे पापा अक्सर घर से या फिर कभी-कभी शहर के भी बाहर रहते हैं, पर क्या इसकी वजह से वो हमारे दिल के भी बाहर हो गए हैं ?

 इन अनकहे सवालों पर अगर आपको खेद है और आप इन पे रोने के बजाय हसंते-हंसते इनके उत्तर चाहते हैं, तो आपकी मनोकामना सुन ली गई है !

7 दिसंबर, शुक्रवार, 7 बजे, गुड़गांव के कोहो विला में दो हास्य कवि “अर्पण खोसला” और “गौरव अरोरा” आपके पापा की छवि बदलने आ रहे हैं। इनके शो का नाम हैं “पापा के परे” और ये एक घंटे का मनोरंजक और बौद्धिक कार्यक्रम है। 

यूं तो एनसीआर में काफी कार्यक्रम होते हैं मगर है अलग इसलिए है क्योंकि इसमें आपको कविता और कॉमेडी दोनों का अद्भुत मिश्रण मिलेगा। 'गौरव' और 'अर्पण' इकलौते हैं जो देश में इस तरह के कार्यक्रम करने के लिए प्रसिद्ध हैं। 

तो सोचिए मत! पापा पे आधारित इस पोमेडी इवेंट का लुत्फ उठाने के लिए जल्द ही अपनी टिकट बुक कीजिए और अपने पापा की ज़िन्दगी के मजेदार सच जानिए ! 

टिकेट लिंक ये रहा: http://bit.ly/PapaKePare
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!