आपका शहर Close
Kavya Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Halchal ›   family says gopal das neeraj admitted to hospital because of ice cream
गोपालदास 'नीरज'

हलचल

आइसक्रीम खाने से बिगड़ी थी कवि नीरज की तबीयत, अब सुधार

अमर उजाला ब्यूरो, अलीगढ़

225 Views
अस्पताल में भर्ती विख्यात कवि पद्मभूषण गोपाल दास नीरज की तबियत में मंगलवार को अच्छा सुधार हुआ। परिजनों का कहना है कि आइसक्रीम खा लेने के कारण उनकी तबियत नासाज हुई थी। नीरज ने कहा कि जब तक मेरी यश भारती की पेंशन जारी नहीं कर दी जाएगी, मैं मरने वाला नहीं हूं।

कहा कि मेरी इच्छा मंच पर ही कविता पाठ करते हुए प्राण त्यागने की है। अस्पतालों के कमरे में मेरे प्राण नहीं जाने वाले हैं। मंगलवार को ही एसएसपी राजेश कुमार पांडेय भी गोपाल दास नीरज को देखने अस्पताल पहुंचे और उनकी कुशल क्षेम ली। 

अस्पताल के बेड पर लेटे नीरज ने कहा कि अभी मेरा कारवां थमने वाला नहीं है। मेरी तबियत खराब होने की सूचना पाकर लोग जाने क्या क्या कयास लगाने लगे। अभी तो मेरे साथ-साथ मेरी कलम का भी सफर जारी है।

परिजनों के मुताबिक पिछले कुछ दिनों में नीरज ने स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही बरती और एक कार्यक्रम में आइसक्रीम भी खा ली थी। जिसके बाद उन्हें स्वास्थ्य संबंधी परेशानी हुई। सोमवार को तबियत खराब होने के बाद उन्हें रामघाट रोड स्थित वरुण स्पेशियलिटी हास्पिटल में भर्ती करा दिया गया था। उनका उपचार कर रहे डॉ. संजय भार्गव ने बताया अब उनकी तबियत में सुधार है, जल्द ही उन्हें अस्पताल से छुट्टी दे दी जाएगी।
Comments
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे कि कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स और सोशल मीडिया साइट्स के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं।आप कुकीज़ नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज़ हटा सकते हैं और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डेटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते है हमारी Cookies Policy और Privacy Policy के बारे में और पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Your Story has been saved!