आपका शहर Close
Hindi News ›   Kavya ›   Halchal ›   sun of hope
sun of hope

हलचल

उम्मीदों का सूरज

ATUL KUMAR YADAV

5 कविताएं

520 Views
उम्मीदों का सूरज था मैं,
दीपक बनकर जूझ रहा हूँ।
मैं पतवार लिये हाथों में,
तटबन्धों को ढूढ़ रहा हूँ।।

उलझी सुलझी तकदीरों में,
दौलत की इन जंजीरों में।
चाहत का दरिया फैला है,
सबका आँचल कुछ मैला है।
मैले आँचल की बात रहेगी,
मगर प्रीत की नाव बहेगी,
उसी नाव पर चढ़ कर अब तो,
अपनेपन से जूझ रहा हूँ।
मैं पतवार लिये हाथों में,
तटबन्धों को ढूढ़ रहा हूँ।

मौसम तो आते जाते हैं,
हर पल लोग बदल जाते हैं,
जो बदले ना मौसम जैसे,
उनको सदा सरल पाते हैं।
जिनको सदा सरल पाते हैं,
मन की बातें कह जाते हैं।
मन की बातें कहते कहते,
मन ही मन से जूझ रहा हूँ।
मैं पतवार लिये हाथों में,
तटबन्धों को ढूढ़ रहा हूँ।

तन के जख्मों को सीकर,
मन के कोलाहल पीकर,
कर्मयोग को गढ़ते गढ़ते,
लीलाओं को पढ़ते पढ़ते,
अनजानी यादें घिर आती,
बचपन में हमको ले जाती,
गुल्ली डंडे कंचों में अब,
अपना बचपन ढूढ़ रहा हूँ।
मैं पतवार लिये हाथों में,
तटबन्धों को ढूढ़ रहा हूँ।

चमकेगी अब मेहनत मेरी,
है लिपटी खून पसीने में।
कहो उजाला फिर क्या भरना,
क्या तम है अब भी जीने में।
तम की बातें करते करते,
रातें बीती सोते जगते।
काली काली उन रातों में,
मैं ही तो इक मूढ़ रहा हूँ।
मैं पतवार लिये हाथों में,
तटबन्धों को ढूढ़ रहा हूँ।

उम्मीदों का सूरज था मैं,
दीपक बनकर बूझ रहा हूँ।
दीपक बनकर बूझ रहा हूँ,
खुद ही खुद को ढूँढ रहा हूँ।।

-अतुल कुमार यादव

हमें विश्वास है कि हमारे पाठक स्वरचित रचनाएं ही इस कॉलम के तहत प्रकाशित होने के लिए भेजते हैं। हमारे इस सम्मानित पाठक का भी दावा है कि यह रचना स्वरचित है। 

आपकी रचनात्मकता को अमर उजाला काव्य देगा नया मुक़ाम, रचना भेजने के लिए यहां क्लिक करें।
सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!