आपका शहर Close
Kavya Kavya
Hindi News ›   Kavya ›   Book Review ›   satta ke galiyaron tak book review in hindi
satta ke galiyaron tak book review in hindi

इस हफ्ते की किताब

घर-आंगन देहरी से सत्ता के गलियारों तक

अमर उजाला काव्य डेस्क, नई दिल्ली

259 Views

यह किताब नवीन चंद्र बाजपेई की आत्मकथा है। बचपन से लेकर आईएएस बनने तक के सफर को शब्दों की रूपरेखा देना आसान नहीं है, लेकिन इस लंबी प्रक्रिया को उन्होंने सहज ढंग से लिखा है। एक अच्छा प्रशासनिक अधिकारी वही है, जो समस्याओं का समाधान निकालने में समर्थ हो। जिसके निर्देशन में जनहित के कार्य सुचारू और अच्छे ढंग से पूरे हो सकें। प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा किए गए फैसलों का जनता और उसके भविष्य पर व्यापक असर पड़ता है, इसलिए प्रशासनिक अधिकारी नागरिकों के हितों की सोचकर ही फैसले लेता है। नवीन चंद्र बाजपेई ऐसे ही व्यक्ति थे। उन्हें जितना समय मिला नागरिकों के हितों के लिए सोचा और कार्य किया। अपनी पुस्तक में उन्होंने उन तमाम आयामों का जिक्र किया है, जो अपने कार्यकाल के समय उनके समक्ष रहे। इस आत्मकथा को उन्होंने छह भागों में बांटा है, जिसमें बचपन की गलियां भी है और युवावस्था के अनगिनत पल भी। आईएएस बनने की राह में मिले संघर्ष भी हैं और अपने सपने तक पहुंचने की खुशी का जिक्र भी है। अपनी कुछ यादों को उन्होंने चित्रों के द्वारा भी पाठकों के साथ साझा किया है। एक सुलझे हुए व्यक्ति की आत्मकथा को पढ़ना प्रेरणादायक है। 

किताब- घर-आंगन देहरी से सत्ता के गलियारों तक
लेखक- नवीन चंद्र बाजपेई
प्रकाशक- प्रभात प्रकाशन, नई दिल्ली
मूल्य- 800 रुपये

सर्वाधिक पढ़े गए
Top

Other Properties:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Your Story has been saved!