लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jharkhand ›   Jharkhand: Naxalite camp destroyed by security forces in West Singhbhum arms and bomb-making material recovere

Jharkhand: नक्सल मुक्त बनने की ओर अग्रसर झारखंड, सुरक्षाबलों ने नेस्तनाबूद किया नक्सल कैंप

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, रांची Published by: प्रांजुल श्रीवास्तव Updated Sat, 26 Nov 2022 02:51 PM IST
सार

एसपी आशुतोष शेखर ने बताया कि हमें सूत्रों से जानकारी मिली थी कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चिरियाबेड़ा में नक्सलियों का कैंप है। इसके बाद जिला पुलिस, जगुआर, कोबरा और सीआरपीएफ की जवानों की ओर से संयुक्त अभियान शुरू किया गया।

सांके
सांके - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन

विस्तार

झारखंड में नक्सलियों के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान को बड़ी सफलता मिली है। पश्चिमी सिंहभूम जिले में सुरक्षाबलों ने नक्सलियों को एक कैंप को नेस्तनाबूद कर दिया है। यहां से सुरक्षाबलों ने भारी मात्रा में हथियार, बम बनाने का सामान और नक्सली साहित्य जैसी अहम चीजें बरामद की हैं। अधिकारियों का कहना है कि नक्सलियों ने कैंप के रास्ते में जमीन के अंदर विस्फोटक सामग्री भी लगाई थी, जिसे बम निरोधक दस्त ने मौके पर ही नष्ट कर दिया। 



तीन दिन पहले मिली थी कैंप की जानकारी
एसपी आशुतोष शेखर ने बताया कि हमें सूत्रों से जानकारी मिली थी कि मुफस्सिल थाना क्षेत्र के चिरियाबेड़ा में नक्सलियों का कैंप है। इसके बाद जिला पुलिस, जगुआर, कोबरा और सीआरपीएफ की जवानों की ओर से संयुक्त अभियान शुरू किया गया। सर्च ऑपरेशन के दौरान सुरक्षाबलों ने नक्सलियों के अस्थाई कैंप पर पहुंचकर उसे नष्ट कर दिया। 


कैंप छोड़कर भाग निकले नक्सली 
अधिकारियों ने बताया, नक्सलियों को जैसे ही सुरक्षाबलों की कार्रवाई की सूचना मिली, वे वहां से भाग निकले। हालांकि, भारी मात्रा में हथियार, गोला-बारूद वहीं छोड़ दिया, जिसे बाद में बरामद किया गया। अधिकारियों ने बताया कि नक्सलियों के गांव में ही छुपे होने की आशंका है। ऐसे में सर्च ऑपरेशन तेज कर दिया गया है। 

नक्सल मुक्त बनने की ओर अग्रसर झारखंड- सीआरपीएफ आईजी
झारखंड सीआरपीएफ रेंज के आईजी अमित कुमार ने कहा कि राज्य नक्सल मुक्त होने की ओर अग्रसर है। नक्सलियों के प्रमुख गढ़ बुरहा पहाड़, चाईबासा, खूंटी, सरायकेला व पारसनाथ पर्वत अब हमारे नियंत्रण में है। उन्होंने कहा, चाईबासा में नक्सली ठिकाने पर हम अगले एक से दो महीने में नियंत्रण कर लेंगे। 

नक्सलियों के गढ़ से खत्म कर रहे दबदबा 
आईजी अमित कुमार ने बताया, हम नक्सलियों के गढ से उनका दबदबा कम कर रहे हैं। उन्होंने बताया, बिहार-झारखंड सीमा पर चक्रबंध में नक्सलियों का दबदबा है। हमने इस क्षेत्र को अपने कब्जे में करने के लिए पहले चरण में जनवरी से जुलाई तक अभियान चलाया। इसके तहत औरंगाबाद में चार कैंप बनाए गए। उन्होंने बताया, जुलाई तक इस क्षेत्र पर सीआरपीएफ ने नक्सलियों का खात्मा कर दिया। वहीं दूसरा चरण सितंबर में शुरू किया गया था। इसके तहत भी चार कैंप बनाए गए। बड़ी मात्रा में  नक्सलियों के हथियार और गोला बारूद बरामद किया जा रहा है। उन्होंने कहा, नक्सलियों के खिलाफ यह अभियान जब तक जारी रहेगा, जब तक हम नक्सलियों का पूरी तरह से सफाया नहीं कर देते। 

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00