लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jharkhand ›   Adivasi parents denied allegations of selling two daughters

झारखण्ड : भट्टे मालिक को लड़की बेचने के आरोप पर बोले दंपती- बेची नहीं देखभाल के लिए छोड़ा

भाषा, जमशेदपुर Updated Tue, 04 Dec 2018 12:48 PM IST
प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर
विज्ञापन
ख़बर सुनें

झारखंड के एक गरीब दंपती ने इस बात से इंकार किया है कि उन्होंने पश्चिम बंगाल के एक ईंट-भट्टा मालिक को कथित तौर पर अपनी दो नाबालिग बेटियां बेची हैं । उन्होंने कहा कि उन्होंने व्यापारी के पास अपनी बेटियां देखभाल करने के लिए छोड़ीं हैं ताकि उनका परिवार बच्चियों का खयाल रख सके।



सोमवार को मीडिया में कुछ खबरें आई थी कि जिले के जगन्नाथपुर उप संभाग के तोरनघाटू गांव के एक आदिवासी दंपती ने तीन वर्ष पहले अपनी दो नाबालिग बेटियां 1,500-1,500 रूपए में हावड़ा के एक ईंट-भट्टा व्यापारी को बेच दीं। पश्चिम बंगाल के सिंहभूम जिला प्रशासन ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं।


जगन्नाथपुर के उप संभागीय पुलिस अधिकारी प्रभात रंजन बारवार ने बताया कि पुलिस के एक दल ने गांव में सोमवार को उस दंपती से मुलाकात की। लड़कियों का पता लगाने के लिए मंगलवार को एक दल हावड़ा जाएगा।

बारवार ने कहा कि हावड़ा के ईंट-भट्टे में काम करने वाले इस दंपती ने पुलिस को बताया कि पहले तो उन्होंने एक बेटी को मालिक के पास रखा था ताकि उसकी उचित देखभाल हो सके। गांव लौटने के बाद उन्होंने अपनी दूसरी बेटी को भी वहां भेजने का निर्णय किया।

जगन्नाथपुर की उप संभागीय अधिकारी स्मृता कुमारी ने सोमवार को बताया कि संबद्ध विकास खंड अधिकारी और पुलिस को घटना की जांच कर जल्द रिपोर्ट जमा करने को कहा गया है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00