लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu News ›   pakistan terrorist syed sallahuddin hizbul mujahideen riyaaz naikoo video release

नायकू के खात्मे के बाद बौखलाया सलाहुद्दीन, खुलेआम सभा कर इमरान को जमकर सुनाया

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: Vikas Kumar Updated Sat, 09 May 2020 07:18 PM IST
सैयद सलाहुद्दीन
सैयद सलाहुद्दीन - फोटो : File Photo
विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर में हिजबुल मुजाहिद्दीन के कमांडर रियाज नायकू के मारे जाने से न सिर्फ घाटी में आतंकियों की कमर टूट गई है बल्कि पाकिस्तान में बैठे उसके आका सैयद सलाहुद्दीन को भी बड़ा झटका लगा है। अमेरिका द्वारा घोषित वैश्विक आतंकवादी और हिजबुल मुजाहिद्दीन के प्रमुख सलाहुद्दीन ने रियाज नायकू के मारे के बाद पाकिस्तान में खुलेआम एक सभा की।





इस सभा में सलाहुद्दीन व अन्य आतंकी मौजूद थे। इस वीडियो में सलाहुद्दीन की बातों से साफ झलक रहा था कि नायकू के मारे से हिजबुल मुजाहिद्दीन की घाटी में कमर टूट चुकी है।

इस दौरान सलाहुद्दीन ने इमरान खान सरकार पर हमला बोलते हुए कहा कि पाकिस्तान हुकूमत कमजोर है जबकि भारत मजबूत स्थिति में है।  

वहीं, सलाहुद्दीन की इस आतंकी सभा से यह भी साफ होता है कि आतंकवाद पर लगाम लगाने में पाकिस्तान न केवल कमजोर है बल्कि आतंकवादियों के लिए उसकी सरजमीं एक सुरक्षित पनाहगाह भी है। 

नायकू पर था 12 लाख का इनाम

रियाज अहमद नायकू
रियाज अहमद नायकू
गृह मंत्रालय की ओर से जारी आतंकियों की रैकिंग में रियाज नायकू को ए प्लस प्लस श्रेणी (सबसे ऊपर) में रखा गया था। मोस्ट वांटेड की सूची में सबसे पहला नाम नायकू का था जिस पर 12 लाख रुपये का इनाम भी रखा गया था।

नायकू के मारे जाने से अब हिजबुल के साथ दूसरे आतंकी संगठनों का हौसला भी पस्त होना लाजमी है। बताया जा रहा है कि नई भर्ती से लेकर आतंकी ठिकाने बनाने और हमले को अंजाम देने की साजिश रचने में नायकू को माहिर माना जाता था।

नायकू के खात्मे के मायने

रियाज नायकू
रियाज नायकू
  • कश्मीर के स्थानीय युवाओं के हिजबुल से जुड़ने पर ब्रेक लगेगा
  • आतंकी साजिशों की प्लानिंग रुकेगी
  • हिजबुल के आतंकियों को कमान देने वाला कोई नहीं रहा
  • बचे आतंकियों का मनोबल टूटेगा

100 से अधिक युवाओं को जोड़ चुका था
हिजबुल मुजाहिदीन के लिए कश्मीर के स्थानीय युवाओं की भर्ती करने का जिम्मा रियाज नायकू पर ही था। नायकू कश्मीर के 100 से अधिक स्थानीय युवाओं को अपने साथ जोड़ चुका था। वह अभी भी कश्मीरी युवाओं को बरगला कर अपने साथ जोड़ रहा था।
विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00