लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu News ›   NA

Jammu News: रियासी में पर्यटन की संभावनाएं अपार, सरकार की नजर-ए इनायत का इंतजार

NA
विज्ञापन
संवाद न्यूज एजेंसी

रियासी। जिला मुख्यालय और इसके आसपास सटे क्षेत्रों में पर्यटन की अपार संभावनाएं है, लेकिन सरकार की उपेक्षा और इन स्थानों पर ध्यान नहीं दिए जाने से यहां नाममात्र ही पर्यटक पहुंचते हैं। श्री माता वैष्णो देवी में सालाना नब्बे लाख, जबकि शिवखोड़ी धाम में हर वर्ष बीस लाख के करीब श्रद्धालु आते हैं। ऐतिहासिक स्थलों का जीर्णोद्धार और सही रखरखाव नहीं होने से रियासी में उक्त दोनों धर्मस्थलों पर आने वाले श्रद्धालुओं में सेे 10 फीसदी भी पर्यटक के रूप में नहीं पहुंचते हैं। यही नहीं कई स्थानों के बारे में लोगों को जानकारी भी नहीं मिल पाती है। कटड़ा-रियासी मार्ग पर स्थित बाबा जित्तो, बुआ कौड़ी मंदिर, नौ देवियां, बाबा धनसर, डेरा बाबा बंदा बहादुर, सुला पार्क, चिनाब दरिया व सियाड़ बाबा में तो पर्यटक पहुंचते हैं।
------
ये ऐतिहासिक स्थल पहुंच से दूर
रियासी नगर के बीचोबीच स्थित भीमगढ़ किला, विजयपुर स्थित जनरल जोरावर सिंह का किला, ध्यानगढ़ में सलाल डैम, चंकाह में चिनाब झील, पटनीटाॅप की तरह पहाड़ी क्षेत्र माहौर में मौजूद डग्गनटाॅप, घोड़ा गली, भमाग की सुखाल घाटी, पांगन देवता, ढोल देवता और सलाल के चनेना देवता जैसे स्थल सैलानियों से दूर हैं। हाल ही में पर्यटन विभाग ने चंंकाह, सुरजनधार, धनुआ, संगड को पर्यटन क्षेत्र के रूप में विकसित करने की घोषणा की थी, ताकि पर्यटक इन स्थानों पर आ सकें, लेकिन इस पर आज तक काम शुरू नहीं हो पाया है।

----
पर्यटन स्थलों को विकसित करने की जरूरत
जनरल जोरावर सिंह मेमोरियल, एजुकेशन व चैरीटेबल ट्रस्ट रियासी की ट्रस्टी दीक्षा और रिया कलहुरिया का कहना है कि हैरिटेज स्थलों का विकास कर ही पर्यटकों को आकर्षित किया जा सकता है। विकसित नहीं होने के कारण इन स्थानों पर पर्यटक नहीं पहुंच पाते हैं। भीमगढ़ किले में लाइट एंड साउंड शो की शुरूआत कर जहां पर मनोरंजन से संबंधित चीजों को लाया जाए, जिससे स्थानीय लोग भी जहां आएंगे। किले के चारों तरफ पार्क बनाया जाए विजयपुर के किले में जनरल जोरावर सिंह से जुड़ा ऐतिहासिक साजो-सामान रखने के लिए राष्ट्रीय स्तर का म्युजियम स्थापित करने की जरूरत है। चिनाब के किनारों को गंगा घाट की तरह बनाया जाए, जहां पर सुबह-शाम आरती होनी चाहिए। जिले के दूरदराज स्थित पर्यटन क्षेत्रों को अगर सही प्रकार से विकसित किया जाता है तो सालाना 50 लाख के करीब पर्यटक जहां पर घूमेंगे आएंगे। जिसका लाभ व्यापारी वर्ग, बेरोजागार युुवाओं को मिलेगा।

नोट खबर फोटो नंबर तीन व चार सहित।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00