लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   militants shoot video of constable of jammu kashmir police before murdering him

जम्मू कश्मीर: अगवा करने के बाद घबराए हुए पुलिस वाले का आतंकियों ने बनाया वीडियो, बाद में कर दी हत्या

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Sun, 22 Jul 2018 01:29 AM IST
militants shoot video of constable of jammu kashmir police before murdering him
विज्ञापन
ख़बर सुनें

जम्मू कश्मीर के कुलगाम में आतंकियों ने छुट्टी पर घर आए पुलिसकर्मी सलीम शाह की अपहरण के बाद हत्या पिछले साल अक्टूबर महीने में मुठभेड़ में मारे गए जैश कमांडर व पाकिस्तानी आतंकी आदिल पठान का बदला लेने के लिए की। आतंकी संगठन हिजबुल ने घटना के बाद पुलिसकर्मी का वीडियो वायरल किया है जिसमें उसने आदिल की मुखबिरी करना कबूल किया है।



उसने कबूल किया है कि एसपीओ रहने के दौरान वह पुलिस अधिकारी परवेज बिल्ला का मुखबिर रहा है। उसने ही पुलवामा जिले के हरिपारिगाम में आदिल के मौजूद रहने की सूचना दी थी। मुठभेड़ में आदिल व छोटा बर्मी को मार गिराया गया था। एसपीओ से पदोन्नत होने के लिए उसने यह काम किया था। 

 


जिले के मुतलहामा गांव में शुक्रवार देर रात को आतंकियों का एक दल अब्दुल गनी शाह के घर में जबरन दाखिल हुआ। वे बेटे मोहम्मद सलीम शाह को अगवा कर अपने साथ ले गए। आतंकियों के जाने के तत्काल बाद उन्होंने घटना की सूचना पुलिस को दी। इसके बाद जम्मू कश्मीर सेना और पुलिस ने पूरे इलाके में तलाशी अभियान चलाया। शनिवार को दोपहर बाद कोईमुह इलाके में घाट ओडिपोरा में उसका शव पाया गया। सूचना पाकर पुलिस ने मौके पर पहुंचकर शव को कब्जे में लिया।

डीजीपी डॉ. एसपी वैद ने कांस्टेबल की हत्या की पुष्टि करते हुए बताया कि घटना में शामिल आतंकियों की तलाश की जा रही है। ईद के बाद लगभग सवा महीने के अंदर आतंकियों द्वारा सैनिकों व पुलिसकर्मियों की अपहरण के बाद हत्या की यह तीसरी घटना है। ज्ञात हो कि ईद पर घर आ रहे पुंछ निवासी सेना के जवान औरंगजेब की आतंकियों ने अपहरण के बाद 14 जून को हत्या कर दी थी। पांच जुलाई को जम्मू कश्मीर के शोपियां जिले में पुलिसकर्मी जावेद अहमद डार की भी अगवा करने के बाद हत्या कर दी गई थी।


पुलिस लाइन पुलवामा में थी तैनाती-

सलीम पुलिस में एसपीओ था और हाल ही में कांस्टेबल के पद पर पदोन्नत हुआ था। कठुआ में ट्रेनिंग लेने के बाद उसकी पुलिस लाइन पुलवामा में तैनाती थी। वह कुछ दिन पहले छुट्टी लेकर घर आया था। 

शरीर पर कई जगह चोट के निशान, हिज्ब की करतूत होने का शक-

कांस्टेबल के शरीर पर कई जगह टार्चर के निशान थे। पुलिस के अनुसार शरीर पर कई जगह चोट के निशान थे जिससे यह स्पष्ट होता है कि आतंकियों ने काफी बर्बरतापूर्वक उसे प्रताड़ित किया था। प्रारंभिक छानबीन में घटना में आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकियों के शामिल होने का शक है। पुलिस हर पहलुओं की छानबीन कर रहा है। जिला पुलिस लाइन पुलवामा में उसे श्रद्धांजलि दी गई। 

हिजबुल ने त्राल में लगाए थे धमकी भरे पोस्टर

आतंकी संगठन हिजबुल मुजाहिदीन ने शुक्रवार को दक्षिण कश्मीर के त्राल में पोस्टर चिपकाकर एसपीओ को नौकरी छोड़ने की चेतावनी देकर दहशत का माहौल पैदा करने की कोशिश की थी। आतंकियों ने कहा था कि एसपीओ 15 दिन में नौकरी छोड़कर दूसरा कामकाज अपना लें और नौकरी नहीं छोड़ते हैं तो उन्हें कड़ी सजा दी जाएगी। हिजबुल के आपरेशनल कमांडर हम्माद खान का इससे जुड़ा एक धमकी भरा आडियो भी सोशल मीडिया पर वायरल है। 
विज्ञापन

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00