लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   LG said in Srinagar, Gandhi needs to understand

Gandhi Jayanti:बापू के भजन को राजनीतिक रंग देने वालों को एलजी ने लिया आड़े हाथों, बोले-गांधी को समझने की जरूरत

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू/श्रीनगर Published by: विमल शर्मा Updated Mon, 03 Oct 2022 02:16 AM IST
सार

अनंतनाग और जम्मू से शुरू शांति यात्रा के समापन पर आयोजित समारोह में उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि सत्य और अहिंसा बापू का सबसे ताकतवर हथियार था। महात्मा गांधी ने बदलते विश्व का रास्ता दिखाया था।

श्रीनगर में कार्यक्रम के दौरान उपराज्यपाल मनोज सिन्हा
श्रीनगर में कार्यक्रम के दौरान उपराज्यपाल मनोज सिन्हा - फोटो : संवाद
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा है कि सभ्य समाज में हिंसा का कोई स्थान नहीं है। भटके युवा हिंसा का रास्ता छोड़ मुख्यधारा में शामिल हों। समाज व देश निर्माण में अपना योगदान दें। उन्होंने बापू के भजन को राजनीतिक रंग देने वालों को आड़े हाथों लेते हुए कहा कि वे किसी एक धर्म के नहीं थे। जो लोग उनके प्रिय भजन को राजनीतिक रंग देने की कोशिश कर रहे हैं उन्हें यह समझने की जरूरत है कि उनके आदर्श पूरी मानवता के लिए थे।



वे श्रीनगर के शेर-ए-कश्मीर कन्वेंशन सेंटर (एसकेआईसीसी) में महात्मा गांधी की जयंती पर आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। अनंतनाग और जम्मू से शुरू शांति यात्रा के समापन पर आयोजित समारोह में उन्होंने कहा कि सत्य और अहिंसा बापू का सबसे ताकतवर हथियार था। महात्मा गांधी ने बदलते विश्व का रास्ता दिखाया था।


यह बदलाव प्रत्येक व्यक्ति से शुरू होना चाहिए। महात्मा गांधी के विचार और एक राष्ट्र एक व्यक्ति के सिद्धांत के आधार पर हमारी विविधता तथा बहुआयामी संस्कृति को बढ़ावा मिलता है। हमें उनके विचारों को अपनाकर ग्राम स्वराज के सपने को साकार करना चाहिए। साथ ही प्राचीन मूल्यों में समाहित आधुनिक शिक्षा के विचार को भी आत्मसात करना चाहिए।

यह प्रत्येक नागरिक की जिम्मेदारी है कि वह बापू के विचारों को अपना कर प्रगति, समृद्धि और शक्तिशाली राष्ट्र निर्माण व आत्मनिर्भर भारत के निर्माण में योगदान करे। कहा कि 1947 में बापू ने कश्मीर में उम्मीद की एक किरण देखी थी। हम बापू के सपनों का जम्मू-कश्मीर विकसित करने के प्रति पूरी तरह प्रतिबद्ध हैं जिसमें समाज के किसी भी वर्ग के साथ कोई भेदभाव न हो।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबका साथ, सबका विकास, सबका विश्वास व सबका प्रयास के मंत्र पर काम कर रहे हैं। वे पूरी दुनिया को वसुधैव कुटुंबकम तथा एकम सत विप्र बहुधा वदंती का संदेश दे रहे हैं। गांधीवादी और स्वराज पीठ ट्रस्ट के अध्यक्ष राजीव वोरा, पद्मश्री एसपी वर्मा समेत कई प्रशासनिक अधिकारी मौजूद थे। 

स्कूलों को आधुनिक शिक्षा केंद्र के रूप में किया जा रहा विकसित 

उप राज्यपाल ने कहा कि बापू के आदर्शों का पालन करते हुए गांवों को आत्मनिर्भर बनाने के उद्देश्य से त्रिस्तरीय पंचायती राज व्यवस्था प्रदेश में लागू की गई है। दूरदराज के इलाके अब विकास की राह देख रहे हैं। शिक्षा एक अन्य महत्वपूर्ण पक्ष है जिस पर पूरे समर्पण के साथ काम किया जा रहा है।

विज्ञापन

वोकेशनल ट्रेनिंग को बढ़ावा देने के साथ स्कूलों को आधुनिक शिक्षा केंद्र के रूप में विकसित किया जा रहा है। किसानों, युवाओं और महिलाओं को सशक्त करने की दिशा में उल्लेखनीय प्रगति हुई है।

उन्होंने महीने भर तक चले गांधी जयंती कार्यक्रमों के विजेता विद्यार्थियों तथा शिक्षण संस्थानों को सम्मानित किया। इसके साथ ही नैक ग्रेडिंग पुरस्कार कॉलेजों और स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार दिया। उन्होंने प्रो. गौतम देशीराजू की पुस्तक भारत: इंडिया 2.0 का विमोचन किया। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00