लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   DGP Jail Lohia mother said, what did the son do to anyone

फूट-फूटकर रोने लगी मां: कहा- बेटे ने किसी का क्या बिगाड़ा था, डीजीपी जेल लोहिया का जम्मू में अंतिम संस्कार

अमर उजाला नेटवर्क, जम्मू Published by: विमल शर्मा Updated Wed, 05 Oct 2022 07:52 PM IST
सार

जम्मू कश्मीर पुलिस महानिदेशक (जेल) हेमंत कुमार लोहिया का सोमवार को उनके दोस्त के घर में हत्या कर दी गई थी। आरोपी यासिर को पुलिस ने मंगलवार  सुबह गिरफ्तार कर लिया। बुधवार को उनका अंतिम संस्कार कर दिया गया है। 

Parmeshwari Lohia
Parmeshwari Lohia - फोटो : एएनआई
विज्ञापन
ख़बर सुनें

विस्तार

जेल विभाग के महानिदेशक (डीजी) हेमंत कुमार लोहिया का बुधवार को सम्मान के साथ जोगी गेट पर अंतिम संस्कार कर दिया गया। हेमंत के बेटे अनिकेत ने पिता को मुखाग्नि दी। पुलिस, प्रशासन और गणमान्य लोग मौजूद रहे। इससे पहले जिला पुलिस लाइन में लोहिया को श्रद्धांजलि दी गई। इस मौके पर परिवार के सदस्य मौजूद रहे। अंतिम संस्कार शुरू होने के दौरान उनके परिजनों में चीख पुकार मच गई।



लोहिया की मां परमेश्वरी लोहिया ने जब बेटे की चिता देखी तो वह बिलख उड़ी। उन्होंने फूट-फूटकर कर कहा कि उनके बेटे की क्या गलती थी, उसने किसी का क्या बिगाड़ा था। सरकारी पैसे का कभी गलत इस्तेमाल नहीं किया। उनका बेटा अपना काम ईमानदारी से करता था। घर में उसके पास सिर्फ एक गाड़ी ही थी। बुधवार सुबह जीएमसी के शवगृह से फूलों से सजी गाड़ी में उनका शव जिला पुलिस लाइन पहुंचा। यहां से जोगी गेट ले जाया गया।


पूरे प्रदेश में अलग-अलग जगहों पर तैनात पुलिस अफसर लोहिया की अंतिम यात्रा में पहुंचे। एडीजीपी एके चौधरी, पूर्व गृह सचिव शालीन काबरा, एडीजीपी गरीब दास, एडीजीपी टी नामगयाल, पूर्व डीजीपी एसपी वैद, एसएसपी चंदन कोहली, जिला उपायुक्त अवनी लवासा आदि ने श्रद्धांजलि दी। डीजीपी की पत्नी मधु लोहिया, बेटे अनिकेत, बेटी नीतिका मौजूद रहे। अंतिम यात्रा में लोहिया के पिता, भाई, दोस्त और असम से कई रिश्तेदार जम्मू पहुंचे। 

मेरे बेटे को क्यों मारा

हेमंत लोहिया की माता परमेश्वरी देवी का कहना है कि उनका बेटा बहुत अच्छा था। उसको क्यों मारा। किसी का क्या बिगाड़ा था। वो तो सबको संभालता था। मेरा बेटा बहुत ईमानदार था। कभी सरकार का पैसा नहीं खाया। कभी भ्रष्टाचार में नहीं रहा। मैं कहती थी कि सभी अफसरों के घरों पर कई गाड़ियां लगी रहती हैं। कोई गाड़ी लेकर क्यों नहीं आता, तो कहता था कि सरकार के पैसों का दुरुपयोग नहीं करना। एक पुरानी गाड़ी घर पर लगी होती थी।

 

रोइये नहीं, अपने आप को संभालिये

लोहिया के संस्कार में बुधवार को राजोरी, असम से भी उनके जानने वाले बड़ी संख्या में पहुंचे थे। उनके रिश्तेदार, भाई एवं उनका परिवार भी पहुंचा था। जैसे ही यह लोग जोगी गेट पहुंचे और संस्कार की तैयारी होने लगी, तो उनके रिश्तेदार और परिवार के लोग फूट-फूट कर रोने लगे। हालांकि लोहिया की पत्नी मधु अपने आप को संभालने का प्रयास कर रही थीं। तभी उनको एडीजीपी एमके सिन्हा ने कहा कि रोइये नहीं, बल्कि अपने आप को संभालिये।

विज्ञापन

हमने एक होनहार अफसर खो दिया : संधू

लोहिया के बैचमेट और पंजाब पुलिस की स्पेशल टास्क फोर्स के एडीजीपी हरप्रीत सिंह संधू भी बुधवार को लोहिया के अंतिम संस्कार में पहुंचे। उन्होंने कहा कि यह बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण घटना है। हमने एक होनहार और ईमानदार अफसर खो दिया है। यह जम्मू-कश्मीर पुलिस के लिए बड़ी क्षति है। उनकी भरपाई करना पुलिस के लिए ही नहीं, बल्कि पूरे देश के लिए संभव नहीं है। 


डीजीपी की हत्या के बाद यासिर ने की थी खुदकुशी की कोशिश 

डीजीपी जेल हेमंत लोहिया की हत्या करने के आरोपी यासिर ने वारदात के बाद खुदकुशी की कोशिश की थी। फरार होने के बाद वह एक खाली प्लॉट में छुप गया था, जहां उसने एक पेड़ पर अपनी बेल्ट बांधकर फंदा लगाया, लेकिन बेल्ट टूट गई। इससे वह बच गया। 
सूत्रों के अनुसार यासिर ने यह सब बातें पूछताछ में पुलिस अधिकारियों को बताई हैं। हालांकि इसकी अधिकारिक तौर पर कोई पुष्टि नहीं कर रहा है। कोई भी पुलिस अधिकारी इस मामले पर बोलने से इंकार कर रहा है। सूत्रों का कहना है कि बुधवार को पुलिस ने यासिर का मेडिकल चेकअप भी कराया है। 

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00