Hindi News ›   Jammu and Kashmir ›   Jammu ›   cyber crime in Jammu and Kashmir, Police is not safe from creating fake accounts

जम्मू-कश्मीरः फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाने वालों से पुलिस भी सुरक्षित नहीं, पढ़ें ये रिपोर्ट

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Published by: प्रशांत कुमार Updated Mon, 24 Aug 2020 01:10 PM IST
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
विज्ञापन
ख़बर सुनें

साइबर अपराध से निपटने में साइबर पुलिस दम तोड़ रही है। अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वह पुलिस को ही निशाना बना रहे हैं। लगातार दो दिन फेसबुक पर पुलिस अफसरों के फर्जी अकाउंट बनाए गए। इससे पहले भी एक पुलिस अफसर का अकाउंट बना था। एक हफ्ते में तीन बड़े अफसरों के फर्जी अकाउंट बन जाना पुलिस के ढांचे पर सवाल उठाता है। अगर पुलिस ही इसमें सुरिक्षत नहीं तो आम लोगों का क्या होगा। इसका महज अंदाजा ही लगाया जा सकता है।



यह भी पढ़ेंः अटल से लेकर मोदी तक सबके चहेते रहे जेटली, 20 तस्वीरों में देखिए भाजपा के संकटमोचक की जीवन गाथा


दरअसल, जानबूझ कर पुलिस अफसरों के नाम के फर्जी फेसबुक अकाउंट बनाए जा रहे हैं, ताकि आसानी से उनके जानने वालों को ठगा जा सके। फेसबुक अकाउंट बनने के बाद लोगों से पैसे मांगे जाते हैं, क्योंकि उन्हें पता होता है कि जिसके नाम का अकाउंट बनाया है, उसके नाम पर आसानी से उनके जानने वाले पैसे भेज देंगे। एसएसपी जम्मू क्राइम ब्रांच शैलेंद्र सिंह का कहना है कि फेसबुक पर फर्जीवाड़े का यह एक नया ट्रेंड सामने आया है। जिसकी गहनता से जांच की जा रही है।  

मामला नंबर- 1
कश्मीर के आईजी विजय कुमार का 21 अगस्त को फेसबुक अकाउंट बना। फेसबुक अकाउंट पर उनकी वर्दी वाली प्रोफाइल फोटो लगाई गई। हालांकि, नाम में विजय कुमार आईपीएस की जगह विजय कुमार एलपीएस रखा गया। अकाउंट बनने के बाद चार घंटे में ही इस अकाउंट में 100 से अधिक लोग जुड़ गए। जबकि विजय कुमार को घंटों के बाद पता चला कि उनके नाम का फर्जी अकाउंट बना है।

मामला नंबर- 2
22 अगस्त को इंस्पेक्टर और सांबा पुलिस स्टेशन के एसएचओ राजेश जसरोटिया के नाम का भी फर्जी फेसबुक अकाउंट बना। इसके बाद उनके अकाउंट से लोगों को फ्रेंड रिक्वेस्ट जाने लगी। उनके जानने वालों को पता चल गया कि फेसबुक अकाउंट बना है। इसके बाद यह अकाउंट ब्लॉक हो गया।

मामला नंबर-3
एसएसपी मोहन लाल के नाम का फेसबुक अकाउंट भी बना। जबकि इससे पहले आईपीएस अफसर अमित कुमार, एसीबी के एसपी मुश्ताक चौधरी और सब इंस्पेक्टर विकास का फर्जी फेसबुक अकाउंट भी बना।

आपकी राय हमारे लिए महत्वपूर्ण है। खबरों को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।

खबर में दी गई जानकारी और सूचना से आप संतुष्ट हैं?
विज्ञापन
विज्ञापन
सबसे विश्वसनीय Hindi News वेबसाइट अमर उजाला पर पढ़ें हर राज्य और शहर से जुड़ी क्राइम समाचार की
ब्रेकिंग अपडेट।
 
रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें अमर उजाला हिंदी न्यूज़ APP अपने मोबाइल पर।
Amar Ujala Android Hindi News APP Amar Ujala iOS Hindi News APP
विज्ञापन
विज्ञापन
  • Downloads
    News Stand

Follow Us

  • Facebook Page
  • Twitter Page
  • Youtube Page
  • Instagram Page
  • Telegram
एप में पढ़ें

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00