विज्ञापन

जम्मू-कश्मीर: सरकारी स्कूलों में नहीं बढ़ रही छात्रों की संख्या, जिले में हो चुके 32 स्कूल बंद

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Thu, 10 Jan 2019 09:30 PM IST
School students
School students - फोटो : Demo Pic
ख़बर सुनें
जम्मू-कश्मीर के सांबा केंद्र व राज्य सरकार की ओर से सरकारी स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए लाखों रुपये खर्च किए जा रहे हैं। विभिन्न प्रकार की योजनाएं चलाने पर भी स्कूलों में बच्चों की संख्या में कोई बढ़ोतरी नहीं हो रही है। बच्चों की संख्या कम होने पर जिले के 32 स्कूलों को विभाग की ओर से बंद करना पड़ा है।
विज्ञापन
कैली मंडी के सरपंच लब्लु संब्याल, सामाजिक कार्यकर्ता कमल कुमार भट्टी ने कहा कि सरकार स्कूलों में बच्चों की संख्या बढ़ाने के लिए काफी प्रयास कर रही है। मिड्डे मील, बच्चों को वर्दी, किताबें दिए जाने के बावजूद भी कोई फर्क नहीं पड़ा है। सरकारी स्कूलों में जहां बच्चे हैं वहां शिक्षकों की कमी है और जहां शिक्षक हैं वहां बच्चे नहीं हैं।

आज भी कई सरकारी स्कूल ऐसे हैं जहां पांच बच्चे हैं और चार-चार शिक्षक मौजूद हैं। कई सरकारी स्कूलों में चारदीवारी तक नहीं है। कई ऐसे स्कूल भी हैं जहां बच्चों के लिए मैदान नहीं हैं। बच्चे प्रार्थना भी गलियों में करते हैं। ऐसे में अभिभावक कैसे बच्चों को सरकारी स्कूलों मे शिक्षा दिलाएंगे।

लोगों ने जिला प्रशासन से मांग की है कि सरकारी स्कूलों के लिए कोई ऐसी नीति बनाई जाए, जिसमें सरकारी मुलाजिम पहले अपने बच्चों को शिक्षा दिलवाएं ताकि आम लोग निजी स्कूलों को छोड़ कर सरकारी स्कूलों की ओर रुख करें व सरकारी स्कूलों में भी बच्चों की संख्या में बढ़ोतरी हो सके। जिन स्कूलों को बंद कर दिया गया है वहां की इमारतें भी खंडहर बन रही हैं, जिन पर लाखों रुपये खर्च किए गए हैं।

 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

क्या कहते हैं अधिकारी

विज्ञापन

Recommended

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें
त्रिवेणी संगम पूजा

कुंभ मेले में अतुल धन, वैभव, समृधि प्राप्ति हेतु विशेष पूजा करवायें और प्रसाद की होम डिलीवरी पायें

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Dehradun

यूजीसी का बड़ा फैसला, देश के इन 8 शिक्षण संस्थानों में सामान्य वर्ग के छात्रों को नहीं मिलेगा आरक्षण

देश के आठ शिक्षण संस्थानों में आर्थिक रूप से पिछड़े सामान्य वर्ग को आरक्षण नहीं मिल पाएगा।

21 जनवरी 2019

विज्ञापन

न्यूजीलैंड को धूल चटाएंगे टीम इंडिया के ये 11 'रन'बांकुरे लेकिन चुनौतियां भी कम नहीं

विराट ब्रिगेड की असली अग्निपरीक्षा अब है। ऑस्ट्रेलिया की तुलना में न्यूजीलैंड दमदार है। टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया को वन-डे सीरीज में जरूर आसानी से हराया, लेकिन फिर भी वो चिंताओं से घिरी दिखी।

22 जनवरी 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree