जम्मूः स्कूल नहीं शिक्षा विभाग तय करेगा अभिभावक कहां से खरीदें किताबें, निदेशालय ने जारी की एडवाइजरी

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, जम्मू Updated Fri, 22 May 2020 04:41 PM IST
विज्ञापन
सांकेतिक तस्वीर
सांकेतिक तस्वीर - फोटो : सोशल मीडिया
ख़बर सुनें
निजी स्कूलों में पढ़ने वाले बच्चों के अभिभावकों के लिए राहत की खबर है। शिक्षा विभाग किताबों के अधिकृत डीलरों की सूची तैयार कर वेबसाइट पर अपलोड करने जा रहा है। स्कूल शिक्षा निदेशालय ने एडवाइजरी जारी कर निजी स्कूल प्रबंधनों से कहा है कि वे बच्चाें को कैसे और किस सामग्री से पढ़ा रहे हैं, इसकी जानकारी सार्वजनिक करें।
विज्ञापन

स्कूल प्रबंधन अपनी ओर से किसी विशेष दुकान से किताबें खरीदने को नहीं कह सकेंगे। वहीं, लॉकडाउन के दौरान ट्यूशन फीस के अलावा वसूले गए शुल्क को आगामी माह में समायोजित करने के निर्देश दिए गए हैं। लॉकडाउन अवधि के दौरान केवल ट्यूशन शुल्क ही मान्य होगा।
लगातार ऑनलाइन कक्षाएं लगाने पर रोक
शिक्षा विभाग ने कहा है कि लॉकडाउन के दौरान स्कूल प्रबंधन ऑनलाइन कक्षाएं चला रहे हैं। इसे रुटीन के तौर पर लगातार और लंबे समय के लिए नहीं लगाया जा सकता है। इसके बच्चों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ रहा है। सभी स्कूल प्रबंधनों को डाटा तैयार करना होगा कि कितने बच्चों के पास इंटरनेट, स्मार्ट फोन, टीवी अथवा अन्य कोई माध्यम है।

स्कूल स्तर पर अभिभावक संघ बनाकर उनसे चर्चा करने के बाद ही ऑनलाइन कक्षाओं का शेड्यूल तैयार किया जाएगा। छात्र एनसीईआरटी, सीबीएसई, जेकेबोसी की वेबसाइट पर उपलब्ध ई-कंटेंट से सेल्फ स्टडी कर सकते हैैं। स्कूलों को कहा गया है कि टेबल लर्निंग, कम्युनिकेशन स्किल, ओरल एंड रिटन जैसे विषयों की रोजाना क्लासेज जरूरी नहीं हैं।
 
विज्ञापन
आगे पढ़ें

समस्या के समाधान के लिए फोन नंबर जारी

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us