पीओके में चार लोगों को हिरासत में लिया

Jammu Updated Tue, 21 Jan 2014 05:49 AM IST
जम्मू। ट्रांस एलओसी ट्रेड के दौरान ब्राउन शुगर के साथ पकड़े गए पाकिस्तान के कब्जे वाले कश्मीर (पीओके) के ट्रक ड्राइवर का मामला उलझता जा रहा है। सोमवार को दिनभर की माथापच्ची के बावजूद दोनों ओर रोके गए ड्राइवरों का आदान-प्रदान नहीं हो पाया। हालांकि, पीओके अथारिटी ने इस मामले में अपने इलाके में चार लोगों को हिरासत में लिया है। उनसे गहन पूछताछ जारी है।
बताया गया है कि हिरासत में लिए गए लोगोें में अल फजर ट्रेडिंग कंपनी के वह व्यापारी भी शामिल है, जिसने उसी ट्रक में माल भेजा था, जिसमें ब्राउन शुगर बरामद हुई है। हालांकि, पीओके अथारिटी इस मामले में कुछ भी एक्शन लेने से पहले गिरफ्तार किए गए ड्राइवर की वापसी चाहती है।
ट्रांस एलओसी ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रेसीडेंट तारिक खान के अनुसार पीओके ट्रेडर्स एसोसिएशन के प्रेसीडेंट खुर्शीद मीर के साथ उनकी टेलीफोन पर वार्ता हुई है। उन्होंने बताया कि पीओके अथारिटी ने चार लोगों को हिरासत में लिया है। हालांकि, पीओके अथारिटी अपने ड्राइवर की वापसी के बिना भारतीय ड्राइवरों की रिहाई और अपने ड्राइवरों की वापसी करवाने को तैयार नहीं है। उनका एक ही तर्क है कि भारत गिरफ्तार ड्राइवर को जब तक वापस नहीं करती, वे अपनी जांच आगे नहीं बढ़ा सकते।
तारिक खान ने कहा कि जम्मू-कश्मीर और केंद्र सरकार के पास मामला है। रियासत के गृहमंत्री सज्जाद अहमद किचलू भी सुबह से केंद्रीय गृह मंत्रालय के अफसरों के साथ संपर्क में हैं, लेकिन देर शाम तक कोई सूचना नहीं मिली है। उन्होंने कहा कि किसी साजिश के तहत ट्रांस एलओसी ट्रेड बंद करवाने का प्रयास हो रहा है। इसलिए वे चाहते हैं कि दोनोें ओर की अथारिटीज जल्द से जल्द फैसला लेकर कारोबार को नियमित करवाएं। शुक्रवार को सलामाबाद ट्रेड सेंटर में पीओके से पहुंचे बादाम से भरे ट्रक (आरआईएस 102137) में कस्टम ने 114 पैकेट ब्राउन शुगर बरामद किया था। साथ ही ट्रक के ड्राइवर मोहम्मद शफीक अवान (निवासी मुजफ्फराबाद, पीओके) को गिरफ्तार कर लिया था। ड्राइवर से पूछताछ के आधार पर कश्मीर के तीन लोगों को गिरफ्तार किया गया था। उसने पीओके के भी अल फजर ट्रेडिंग कंपनी से जुड़े व्यापारियों के बारे में भी जानकारी दी थी। इसके बाद पीओके अथारिटी ने भारत माल लेकर पहुंचे 49 में से 48 ट्रक ड्राइवरों को वापस लेने से इंकार कर दिया। साथ ही भारत से माल लेकर उस ओर गए 27 ट्रक ड्राइवरों को अपने क्षेत्र में रोक लिया।

Spotlight

Most Read

Meerut

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

राहुल काठा की सुरक्षा में पेशी

23 जनवरी 2018

Related Videos

छेड़खानी, यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म मामले में पुरुष ही दोषी क्यों?

अकसर जब कोई छेड़खानी, यौन उत्पीड़न और दुष्कर्म का मामला सामने आता है तो पुरुषों को पूरी तरह से दोषी मान लिया जाता है।

23 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper