बच्चियों ने खोला मौसी की हत्या का राज

Jammu Updated Thu, 29 Nov 2012 12:00 PM IST
जम्मू। डेढ़ साल तक जिस युवती के साथ प्रेम संबंध बनाए, उसी युवती को आशिक ने फिनायल पिला कर उसकी जीवन लीला समाप्त कर दी।
वह युवक जो कुछ समय पहले तक एकसाथ जीने मरने की कसमें खाता था, इतना बेवफा निकला कि उसने युवती को धोखे से जहर पिलाया, ताकि वह उससे शादी के झमेले से बच जाए। घटना के बाद छन्नी हिम्मत पुलिस ने आरपीसी की धारा 174 के तहत कार्यवाही की थी, लेकिन मृतका की नन्ही बच्चियों द्वारा मौसी की हत्या का राज खोलने पर आरोपी के खिलाफ धारा 302 के तहत मामला दर्ज कर लिया गया। साथ ही एसडीपीओ एसएस संब्याल की देखरेख में पुलिस टीम ने तकनीकी पद्धति से जांच शुरू की और आरोपी तक पहुंचने में कामयाब हुई। एसएचओ छन्नी हिम्मत दीपक पठानिया के अनुसार आरोपी जोगिंदर कुमार उर्फ सोनू अकसर गीता देवी के घर आता-जाता था। उसके साथ प्रेम संबंध भी स्थापित हो गए थे। सोनू रात के समय भी गीता देवी के घर आता जाता था।
घटना के समय मृतका गीता देवी (मूल निवासी छत्तीसगढ़) के साथ उसकी बहन की दो बेटियां पिंकी (13 वर्ष) और ललिता (12 वर्ष) भी रहती थीं, जो गीता देवी की मौत के बाद छत्तीसगढ़ स्थित अपने घर वापस लौट गईं। जांच टीम ने दोनोें लड़कियोें को बुलाकर उनसे पूछताछ की। उन्होंने बताया कि घटना के दिन रात लगभग 8.30 बजे सोनू अपने साथ फिनायल की बोतलें और दस टैबलेट लेकर आया था। उस दिन गीता की तबीयत ठीक नहीं थी। उसने फिनायल में टैबलेट घोले और उसे गीता को दवा बताकर पिला दिया। उसके बाद गीता
की तबीयत खराब हो गई। लड़कियां डर के मारे रोने लगीं। आरोपी ने उन्हें धमकी दी कि यदि उन्होेंने किसी को बताया तो उन्हें भी मार दिया जाएगा। उसके बाद गीता को अस्पताल में भर्ती करवाया गया। गीता की स्थिति अच्छी न होने के कारण उसके बयान भी नहीं लिए जा सके। जीएमसी में चार दिन के इलाज के बाद उसने दम तोड़ दिया।
पुलिस ने धारा 302 के तहत मामला दर्ज करने के उपरांत छन्नी हिम्मत से सोनू को गिरफ्तार किया। साथ ही उससे कड़ाई से पूछताछ की। सोनू ने खुलाया किया कि उसके गीता के साथ पिछले एक साल से शारीरिक संबंध थे। गीता उससे शादी करने के लिए दबाव डाल रही थी, जबकि वह उससे शादी नहीं करना चाहता था। इसलिए उसने गीता को समाप्त करने की योजना बनाई और उसे फिनायल में टैबलेट घोलकर पिला दिए। पुलिस के अनुसार मामले की अभी छानबीन चल रही है।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: आपने आज तक नहीं देखा होगा ऐसा डांस! चौंक जाएंगे देखकर

सोशल मीडिया पर अक्सर आपको कई चीजें वायरल होते हुए मिल जाती हैं लेकिन फिर भी कई चीजें ऐसी होती हैं जो वायरल तो हो रही हैं लेकिन आप तक नहीं पहुंच पातीं।

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls