मिठाइयों की चमक दे सकती है धोखा

Jammu Updated Fri, 02 Nov 2012 12:00 PM IST
जम्मू। त्योहारों के नजदीक आने के साथ ही मिष्ठानों की मांग बढ़ गई है। इसी बात का फायदा उठाते हुए दुकानदारों और हलवाइयों ने ज्यादा मुनाफा कमाने के लिए खाद्य पदार्थों में मिलावटखोरी तेज कर दी है। खोये, पनीर आदि दुग्ध पदार्थों के ज्यादा उत्पादन के साथ मिलावट भी बड़ी मात्रा में हो रही है।
इस बात की पुष्टि इसी बात से हो चुकी है कि नगर निगम के हेल्थ विंग की तरफ से जब-जब खोये, पनीर तथा मिठाइयों के सैंपल उठाए गए हैं, उनमें मिलावट पाई गई है। निगम का दावा है कि सैंपल की रिपोर्ट में सब-स्टैंडर्ड है। इस स्थिति में सेहत के बहुत कम खराब होने के चांस होते हैं, जबकि यूरिया या रंग पाए जाने पर खाद्य पदार्थ खतरनाक हो सकते हैं, जिससे फूड इन्फे क्शन हो सकता है।
बाजारों में ग्राहकों को आकर्षित करने वाली ज्यादा चमकदार मिठाइयां भी सेहत को धोखा दे सकती हैं। जम्मू म्यूनिसिपल कारपोरेशन की हद में दुग्ध पदार्थ तैयार करने वाली सौ दुकानें हैं यहां खोया, पनीर, दही और पनीर तैयार किया जाता है। इसी तरह से छोटी-बड़ी सौ के करीब और मिठाई की दुकानें हैं। इन दिनों त्योहारों का सीजन होने पर मिठाइयों आदि दुग्ध पदार्थों की खपत बढ़ गई है। साथ ही दुकानदारों की तरफ से मुनाफा बढ़ाने के लिए पनीर में पाउडर, खोये में सूजी, मैदे, आटे और चीनी की मिलावट, मिठाइयों में ज्यादा डाई और चीनी का प्रयोग तेज हो गया है। मिठाइयों को चमक देने के लिए ज्यादा रंग का प्रयोग हो रहा है, जो कि सेहत के लिए हानिकारक है। इससे फूड इन्फेक्शन के साथ उल्टियां आदि आने के बाद अस्पताल जाने तक की नौबत आ सकती है।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

दावोस पीएम मोदी की तारीफ में सुपरस्टार शाहरुख खान ने पढ़े कसीदे

दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' सम्मेलन में बच्चों और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए क्रिस्टल अवॉर्ड से नवाजे गए बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान..

24 जनवरी 2018