पाक नागरिक को 22 साल की कैद

Jammu Updated Tue, 23 Oct 2012 12:00 PM IST
जम्मू। पड़ोसी देश की सेना के एजेंट के रूप में काम करने वाले पाकिस्तानी नागरिक को जम्मू के प्रिंसिपल सेशन जज जंग बहादुर सिंह जम्वाल ने 22 साल की कठोर सजा सुनाई। पाकिस्तान के इखलासपुर (जिला नारोबल) निवासी खालिद परवेज उर्फ जावेद मोहम्मद अली पर अदालत ने 30 हजार रुपये का जुर्माना भी लगाया है।
जम्मू के बाड़ी ब्राह्मणा इलाके में रहने वाली शिकायतकर्ता ने जावेद (निवासी लुधियाना) को अपने घर में किराए पर कमरा दिया था। जो इलाके की ही फैक्ट्री में मजदूर के रूप में काम करता था। घटना के दिन सुबह 11 बजे महिला अपने घर के अंदर घरेलू काम में व्यस्त थी। इसी दौरान बरामदे में खेल रहे उसके बेटे को आरोपी जावेद ने मोहित किया और उसका अपहरण करके फरार हो गया। कई प्रयासों के बावजूद उनका कोई सुराग नहीं मिला। शिकायत मिलने के बाद पुलिस ने बच्चे के अपहरण का मामला दर्ज किया और आरोपी को पठानकोट जीआरपी से हिरासत में लिया, जिसने उसे अन्य केस में पकड़ा था। पूछताछ के दौरान पता चला कि जावेद वास्तव में पाकिस्तानी नागरिक है और अपनी पहचान छुपाकर यहां रह रहा था। ज्वाइंट इंटेरोगेशन सेंटर में आरोपी से पूछताछ के बाद पुलिस ने पैसिफिक साइबर कैफे के मालिक का बयान दर्ज किया, जिसमें उन्होंने बताया कि आरोपी ने उसके कैफे से सेना से संबंधित सूचना पाकिस्तान को भेजी थी। पुलिस ने बीएसएनएल से मेल का रिकार्ड मांगा, लेकिन आरोपी द्वारा उसे मिटा दिए जाने के कारण उसका ब्योरा नहीं मिल सका। पूछताछ में पता चला कि आरोपी 1997 में पाकिस्तानी पुलिस में कांस्टेबल था। उसके खिलाफ धारा 307 के तहत एक मामला दर्ज हुआ था, जिसके बाद वह भाग गया। साथ ही उसे नौकरी से निलंबित कर दिया गया।
वर्ष 2004 में आरोपी ने मेजर सफदर के साथ मिलकर फर्जी पासपोर्ट बनाया और 2005 में वाघा सीमा से भारत में प्रवेश किया। उसका उद्देश्य भारतीय सेना की जानकारी हासिल करना था। जून 2006 में वह जम्मू के नानक नगर इलाके में मोहिंदर नाम से किराएदार के रूप में रहा। यहां से वह पाकिस्तान में मेजर सफदर को सूचनाएं भेजता था। बच्चे के अपहरण और पाकिस्तान गुप्त सूचनाएं भेजने के आरोप में पुलिस ने जावेद के खिलाफ मामला दर्ज किया और जांच के बाद अदालत में चालान पेश किया।
दोनों पक्षोें के वकीलोें की दलीलें सुनने के बाद प्रिंसिपल सेशन जज ने पाया कि आतंकी गतिविधियोें के कारण जेएंडके ही नहीं, बल्कि पूरे देश में भोले भाले लोग प्रभावित हो रहे हैं।
तमाम तथ्यों को ध्यान में रखते हुए अदालत ने आरोपी को 22 साल की कठोर सजा सुनाई। जुर्माना अदा न करने पर आरोपी को दो साल अतिरिक्त सजा भुगतनी होगी। सजा पूरी होने के बाद उसे उसके देश भेजा जा सकता है। जेएनएफ

Spotlight

Most Read

Kotdwar

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण की टीम ने डाला कण्वाश्रम में डेरा

19 जनवरी 2018

Related Videos

केजरीवाल के सियासी करियर का "काला दिन" समेत शाम की 10 बड़ी खबरें

अमर उजाला टीवी पर देश-दुनिया की राजनीति, खेल, क्राइम, सिनेमा, फैशन और धर्म से जुड़ी खबरें दिन में चार बार LIVE देख सकते हैं, हमारे LIVE बुलेटिन्स हैं - यूपी न्यूज सुबह 7 बजे, न्यूज ऑवर दोपहर 1 बजे, यूपी न्यूज शाम 7 बजे

19 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper