अतिक्रमण के कारण सिकुड़ती जा रही शहर की सड़कें व गलियां

Jammu and Kashmir Bureauजम्मू और कश्मीर ब्यूरो Updated Fri, 20 Dec 2019 01:24 AM IST
विज्ञापन
gole market footpath par dukanwalo nay kiya atikarman
gole market footpath par dukanwalo nay kiya atikarman - फोटो : UDHAMPUR

पढ़ें अमर उजाला ई-पेपर Free में
कहीं भी, कभी भी।

70 वर्षों से करोड़ों पाठकों की पसंद

ख़बर सुनें
उधमपुर। दिन प्रतिदिन बढ़ रही दुकानों, रेहड़ियों व फड़ियों के कारण पूरा शहर अतिक्रमण की चपेट में है। हालात ऐसे बन चुके हैं कि सड़कों व गलियों में लोगों के चलने के लिए जगह नहीं बची है। शहर के कुछ इलाके ऐसे हैं कि जहां दुकानों के बाहर सामान रख कर अतिक्रमण किया गया है। इसी कारण शहर में कई बार जाम की समस्या बन रही है।
विज्ञापन

शहर की सड़कें अतिक्रमण से सिकुड़ गई हैं। जिन स्थानों पर बाजार आने वाले लोग अपनी बाइक, साइकिल आदि रोक करके दुकान में सामान की खरीदारी के लिए चले जाते थे। उस जगह को या तो दुकानदारों ने कब्जे में ले लिया है। या वहां रेहड़ी फड़ी वालों ने अपनी छोटी-छोटी दुकानें लगा ली हैं। कई जगह ऐसा भी है जहां बड़े दुकानदारों ने रेहड़ी फड़ी लगवा ली है और सरकारी जमीन का किराया वे स्वयं वसूल करते हैं। वहीं जानकारी होने के बावजूद नगर परिषद अतिक्रमण पर अंकुश नहीं लगा पा रही है। अतिक्रमण दूर करने के लिए योजनाएं तो बहुत बनाई गई, लेकिन आज तक इसको लेकर जमीनी स्तर पर काम नहीं किया जा सका है।
लोगों की सुविधा के लिए ही शहर में सड़कों व गलियों का निर्माण किया गया है, लेकिन अब यह सड़कें चलने के कम व व्यवसाय में ज्यादा इस्तेमाल की जा रही हैं। अतिक्रमण के कारण सड़कें व गलियां पूरी तरह से सिकुड़ चुकी हैं। शहर में लंबी गली, मेन बाजार, कोर्ट रोड, सैला तालाब, बस अड्डा गली, मुखर्जी बाजार, गोल मार्केेट, हास्पिटल रोड सबसे व्यस्त इलाकों में से एक है। इन स्थानों पर दुकानदारों ने अपनी दुकानों के सामान को सड़क पर रख दिया है। इसी कारण पैदल चलने वाले लोगों के लिए सड़क पर स्थान ही नहीं बचा है। मजबूरन लोगों को सड़क के बीच चलना पड़ता है।
-----
इनसेट
रेहड़ी, फड़ी के कारण भी परेशानी बढ़ी
शहर का बस अड्डा, टाउन हाल रोड, सलाथिया चौक, गोल मार्केट, कोर्ट रोड, सलाथिया चौक व अन्य कई स्थानों पर रेहड़ी व फड़ी वालों ने अतिक्रमण को बढ़ावा दे रखा है। बस अड्डा पर तो हर बस के आगे एक रेहड़ी खड़ी होती है, इसके अलावा रास्तों पर फड़ी वालों ने कब्जा कर रखा है।
-----
इनसेट
औपचारिकता के लिए की जाती है कार्रवाई
जानकारी होने के बावजूद नगर परिषद इस पर किसी तरह की कार्रवाई नहीं कर रहा है। जब भी कोई अतिक्रमण का विरोध करता है तो औपचारिकता पूरी करने के लिए नगर परिषद के कर्मचारी सड़कों पर पहुंच जाते हैं। कुछ रेहडिय़ों को कब्जे में लेकर कार्रवाई के दावे किए जाते हैं।
-----
इनसेट
आज तक रेहड़ी जोन में नहीं पहुंच सकी रेहड़ियां
अप्रैल में नगर परिषद ने नगर परिषद कार्यालय के समाने मार्ग पर रेहड़ी जोन तैयार किया था। इस स्थान पर करीब 90 रेहड़ियों को लगाया जाना था। नगर परिषद ने लोहे के पिलर लगाकर इस मार्ग पर वाहनों की आवाजाही को भी बंद किया, लेकिन आठ महीने गुजरने के बाद भी रेहड़ियां रेहड़ी जोन में नहीं पहुंच सकी है।
-----
इनसेट
रेहड़ी फ्री जोन से नहीं हट सकी रेहड़ियां
करीब दो सप्ताह पहले इंदिरा चौक से सलाथिया चौक तक के इलाके को रेहड़ी फ्री जोन घोषित किया गया। इसके लिए लाउड स्पीकर पर एनाउंसमेंट कर रेहड़ी व फड़ी वालों को चेतावनी दी गई कि जल्द से जल्द रेहड़ियों को हटा दिया जाए, नहीं तो नगर परिषद सख्त कार्रवाई करेगा, लेकिन यह योजना भी घोषणा तक ही सीमित रह गई। न तो रेहडियां हटी और न ही रेहड़ी वालों पर कोई कार्रवाई हुई।
------
अतिक्रमण पर अंकुश लगाने के लिए नगर परिषद की तरफ से प्रयास चल रहे है। मौजूदा समय में नगर परिषद का सारा ध्यान कूड़ा निस्तारण को लेकर है। इसके बाद अतिक्रमण हटाने को लेकर सख्ती के साथ काम किया जाएगा।
डॉ. जोगेश्वर गुप्ता, नगर परिषद उधमपुर
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन
Election
  • Downloads

Follow Us