फिर ओवरलोडिंग बनी हादसे की वजह

Udhampur Updated Sun, 25 Nov 2012 12:00 PM IST
रामनगर। हादसे ने ट्रैफिक विभाग की लापरवाही की एक बार फिर पोल खोल दी। ओवरलोडिंग के कारण हादसा ज्यादा बड़ा हो गया।
हादसा के वक्त बस में करीब 75 लोग सवार थे। इसके चलते ट्रैफिक विभाग के खिलाफ भी लोगों में रोष है। बताया यह भी जाता है कि बारातियों से भरी बस शुक्रवार को जब मरोठी के लिए रवाना हुई थी, उस समय भी बस के भीतर और छत पर भी लोग सवार हो कर गए थे। इतना ही नहीं जो बस दुर्घटनाग्रस्त हुई वह करीब सोलह वर्ष पुरानी थी। इसके चलते 75 यात्रियों को ढोने की क्षमता बस की नहीं थी। इसके अलावा मार्ग की दयनीय हालत भी कोढ़ में खाज साबित हुई। इसके चलते लोग हादसे के लिए प्रशासन को भी जिम्मेवार ठहरा रहे हैं। स्थानीय लोग और कई सामाजिक संगठनों ने इस हादसे की जांच करवाने की मांग की। सांसद चौधरी लाल सिंह ने भीषण सड़क दुर्घटना पर शोक प्रकट किया है। उन्होंने कहा कि मृतक के परिवारों और घायलों के परिवारों को हरसंभव सहायता दिया जाएगा। उन्होंने प्रशासन और स्वास्थ्य विभाग को कहा कि घायलों के इलाज में किसी प्रकार की कोताही नहीं की जाए। वहीं अखंड ज्योति कमेटी के संयोजक विनय जंडियाल, व्यापार मंडल के प्रधान जोगिन्द्र वंगाथिया के अलावा कांग्रेस, पैंथर्स, भाजपा, रामनगर क्रांति दल, रामनगर विकास दल, रामनगर सेवादल, रामनगर सेवा समिति के अलावा कई लोगों ने भी शोक जताया।

काश हेलीकाप्टर मिल जाता
उधमपुर/चिनैनी। डुडू में हुए हादसे में मारे गए लोगों में कुछ जानें बचाई जा सकती थी, यदि घायलों को जम्मू तक ले जाने के लिए हेलिकाप्टर का इंतजाम हो जाता। घायलों में 46 यात्री की हालत गंभीर बनी हुई है। इस हादसे के बाद प्रशासन द्वारा हेलीकाप्टर सेवा के लिए कोई भी ठोस कदम नहीं उठाया गया। डीसी ने बताया कि अंधेरा हो जाने से सुरक्षा कारणों से चापर की व्यवस्था नहीं हो सकी। 
नहीं पहुंची एंबुलेंस
रामनगर। हादसे में घायल हुए लोगों को तुरंत इलाज उपलब्ध करवाने में स्वास्थ्य विभाग की कमजोरी सामने आ गई। इसके चलते लोगों में विभाग के प्रति खासा रोष देखा गया। घटना की सूचना देने के बावजूद कई घंटे बाद तक एक भी एंबुलेंस मौके पर नहीं पहुंची। घायलों को सीआरपीएफ की दो गाड़ियों और एक स्थानीय गाड़ी से अस्पताल पहुंचा गया। इसके अलावा लाटी पीएचसी में भी स्टाफ की भारी किल्लत थी। जानकारी के मुताबिक वहां केवल तीन डाक्टर ही मौके पर मौजूद थे।

दुर्घटना में मारे गए लोगों की सूची
उधमपुर/चिनैनी। बस दुर्घटना में मारे गए लोगों की सूची इस प्रकार है- पुरुषोत्तम और जोगिन्दर दोनों निवासी वैगन, राज सिंह निवासी डुडु, त्रिलोक चंद्र निवासी लोढ़रा, मनसा राम निवासी सुदरोता, सुभाष निवासी लोढ़रा, शंटू निवासी लंघा, सफीक अहमद निवासी लोढ़रा, गुलशन सिंह निवासी मरोखी, सुरेंद्र सिंह निवासी बग्गन, कुलदीप, राज सिंह निवासी सदरोता, चुन्नी लाल निवासी उप्पर बरोता, करनैल सिंह, मो. रफीक, कुलदीप कुमार और बलवीर। एक अन्य मृतक की खबर लिखे जाने तक पहचान नहीं हो सकी है। 

Spotlight

Most Read

Chandigarh

RLA चंडीगढ़ में फिर गलने लगी दलालों की दाल, ऐसे फांस रहे शिकार

रजिस्टरिंग एंड लाइसेंसिंग अथॉरिटी (आरएलए) सेक्टर-17 में एक बार फिर दलाल सक्रिय हो गए हैं, जो तरह-तरह के तरीकों से शिकार को फांस रहे हैं।

21 जनवरी 2018

Related Videos

पुलिस की नाक के नीचे से एटीएम ही उड़ा ले गए चोर

उधमपुर में बेखौफ चोरों ने एक बार फिर से अपनी मौजूदगी दर्ज कराते हुए टिकरी में लगे भारतीय स्टेट बैंक के एटीएम को ही उड़ा लिया। पुलिस की माने तो एटीएम में 30 लाख के करीब कैश भरा था। पुलिस ने शक के आधार पर एटीएम गार्ड को हिरासत में लिया है।

7 अक्टूबर 2017

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper