विज्ञापन
विज्ञापन

अब रिसुग लगाएगा आबादी पर रोक

Udhampur Updated Wed, 01 Aug 2012 12:00 PM IST
ख़बर सुनें
उधमपुर। चिकित्सा के क्षेत्र में रोज कोई न कोई नए शोध हो रहे हैं। इसी क्रम में एक ऐसी अनुसंधान की कड़ी एक अनुकूल परिणाम लेकर सामने आई है जो रिवर्सेबल इनहैबिटेशन आफ स्पर्म अंडर गाइडेंस (रिसुग) इंजेक्शन के रूप में जानी जाती है। जिसके जरिए परिवार को नियोजित करने तथा जनसंख्या विस्फोट से समाज में रहने वाले लोग बच सकेंगे। इस इंजेक्शन प्रक्रिया से न कोई दर्द और न ही कोई आपरेशन का भय है जबकि भारत में ही इजाद किया गया रिसुग इंजेक्शन से नसबंदी से डरनेवाले लोग अब टेंशन मुक्त होकर इस पद्धति को अपनाने लगे हैं। उधमपुर जिला अस्पताल में इस प्रोजेक्ट के तहत हो रहे शोध के दौरान अब तक यहां के 48 पुरुषों ने इस पद्धति का लाभ उठाया है।
विज्ञापन
विज्ञापन
जिला अस्पताल में वर्ष 2007 नवंबर माह में रिसुग प्रोजेक्ट प्रयोग के तौर पर आरंभ किया गया था। जिसके अंतर्गत अब तक 48 पुरुषों द्वारा इस इंजेक्शन का लाभ उठाया गया है। गौरतलब है कि इस इंजेक्शन का इजाद भारतीय वैज्ञानिक चिकित्सक डा. एसके गुहा ने की है जो इस समय आईआईटी नई दिल्ली में प्रोफेसर हैं। वहीं,जम्मू कश्मीर रियासत के उधमपुर जिला अस्पताल में ही रिसुग इंजेक्शन पर शोध कार्य जारी है, जिसके चेयरमैन जिला मेडिकल सुपरिंटेंडेंट हैं। वहीं, इस इंजेक्शन पर शोध गुवाहाटी, पटना, एम्स नई दिल्ली, खड़गपुर, जयपुर और लुधियाना में स्थित अस्पतालों में जारी है।
रिसुग इंजेक्शन की प्रक्रिया और लाभ
इंजेक्शन लेनेवाले पुरुषों को रुपये भी प्रोत्साहन स्वरूप प्राप्त होते हैं। इंजेक्शन लेने के बाद पत्नी को भी अस्पताल में आकर चेकअप कराना पड़ता है और उसे तीन सौ रुपये नकद दिये जाते हैं। दो साल तक समय-समय पर पुरुषों को परीक्षणों से गुजरना होता है तथा जब-जब परीक्षण के लिए वे आएंगे उन्हें तीन सौ रुपये मिलेंगे। छह माह बाद उसकी पत्नी का भी परीक्षण किया जाता है और उसे भी तीन सौ रुपये प्रोत्साहन राशि दी जाती है। प्रक्रिया इंजेक्शन लेने की तिथि से दो साल तक समय-समय पर चलता रहता है।
रिसुग इंजेक्शन को लेकर प्रोजेक्ट इंचार्ज डा. केसी शर्मा ने बताया कि यह इंजेक्शन रिवर्सेबल है। पुरुष को यह इंजेक्शन दिया जाता है जिसका असर दस साल तक रहता है। यदि वह चाहे तो अपनी पहली स्थिति में आए तो उसे दोबारा एक इंजेक्शन लेना पड़ता है जिससे उसकी स्थित पहले जैसी हो जाएगी।
डा. चंद्रप्रकाश ने बताया कि भारत सरकार की ओर से इंडियन काउंसिल आफ मेडिकल रिसर्च (आईसीएमआर) के तहत यह रिसुग इंजेक्शन पर आधारित प्रोजेक्ट का चयन किया गया है। आगे दो साल तक चलता रहेगा। इस प्रक्रिया के पूर्ण होने पर चिकित्सा जगत को एक बड़ी उपलब्धि हासिल होगी। वहीं, अब तक 48 लोगों में से शहरी और ग्रामीण लोगों के अतिरिक्त सैन्य जवान भी हैं जिन्हें इसका लाभ मिला है।

Recommended

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से
Election 2019

देखिये लोकसभा चुनाव 2019 के LIVE परिणाम विस्तार से

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर
Election 2019

जानिए अपने शहर के लाइव नतीजों की पल-पल की खबर

विज्ञापन
विज्ञापन
अमर उजाला की खबरों को फेसबुक पर पाने के लिए लाइक करें

लोकसभा चुनाव 2019 (lok sabha chunav 2019) के नतीजों में किसने मारी बाजी? फिर एक बार मोदी सरकार या कांग्रेस की चुनावी नैया हुई पार? सपा-बसपा ने किया यूपी में सूपड़ा साफ या भाजपा का दम रहा बरकरार? सिर्फ नतीजे नहीं, नतीजों के पीछे की पूरी तस्वीर, वजह और विश्लेषण। 23 मई को सबसे सटीक नतीजों  (lok sabha chunav result 2019) के लिए आपको आना है सिर्फ एक जगह- amarujala.com  Hindi news वेबसाइट पर.

विज्ञापन

Spotlight

विज्ञापन
विज्ञापन
विज्ञापन

Most Read

Jammu

जम्मू, उधमपुर और लद्दाख लोकसभा सीट पर भगवा लहर, कार्यकार्ता बोले छा गए मोदी

जम्मू-कश्मीर की जम्मू-पुंछ, उधमपुर-डोडा-कठुआ और लद्दाख लोकसभा चुनाव में दोपहर 12 बजे तक जो गिनती सामने आई है उसके अनुसार, भारतीय जनता पार्टी के प्रत्याशी जुगल किशोर शर्मा व डॉ जितेंद्र सिंह ने भारी बढ़त बना ली है।

23 मई 2019

विज्ञापन

मोदी जी के नीतियों के बदौलत संभव हुआ, 2014 से बड़ी जीत है: ब्रजेश पाठक

भाजपा नेता ब्रजेश पाठक ने कहा की प्रधानमंत्री मोदी के नीतियों के बदौलत ये जीत संभव हो पाई है।

23 मई 2019

आज का मुद्दा
View more polls

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree
Election