कश्मीरी खिलाड़ियों का बहिष्कार लगभग तय

Sri nagar Updated Sat, 24 Nov 2012 12:00 PM IST
जम्मू। जीजीएम साइंस कालेज की हास्टल ग्राउंड पर शनिवार को होने जा रहे रणजी मुकाबले के लिए उठा पटक जारी है। शुक्रवार दूसरे दिन भी कश्मीर खित्ते से आए खिलाड़ी अभ्यास को मैदान पर नहीं उतरे। ऐसा माना जा रहा है कि मैच में कश्मीर खित्ते के खिलाड़ियों का बहिष्कार लगभग तय है। उधर, जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के जम्मू संभाग के संयोजक महबूब इकबाल का कहना है कि कश्मीर के कुछ खिलाड़ी पिछले कई सालों से बेहतर प्रदर्शन नहीं कर रहे हैं। जिससे वरिष्ठ कोच बिशन सिंह वेदी ने ऐसे खिलाड़ियों को प्रदर्शन में सुधार लाने को कहा था। टीम में बेहतर प्रदर्शन करने वालों को ही तवज्जो दी जा रही है। शनिवार को आंध्र प्रदेश के साथ हर हाल में मुकाबला होगा।
जम्मू के एक होटल में ठहरे कश्मीर से आए खिलाड़ी और पूर्व कैप्टन समीर उल्ला बेग ने आरोप लगाया कि राज्य टीम के चयन में चयनकर्ताओं के बजाय जम्मू-कश्मीर क्रिकेट एसोसिएशन के पदाधिकारियों का हस्तक्षेप ज्यादा रहा है।
उन्होंने मांग की कि टीम का चयन सिर्फ चयनकर्ता ही करें। इसमें कितने भी खिलाड़ी कश्मीर या जम्मू से क्यों न हों। उन्होंने साफ किया कि अगर एसोसिएशन के पदाधिकारी उनसे कोई बात नहीं करते हैं तो वह शनिवार को वापस श्रीनगर लौट जाएंगे और कश्मीर का कोई भी खिलाड़ी टीम में नहीं खेलेगा। इसी तरह अन्य खिलाड़ी माजिद डार ने आरोप लगाया कि राज्य के क्रिकेट में क्रिकेट कम और राजनीति ज्यादा हो रही है। अच्छा प्रदर्शन करने वाले खिलाड़ियों को तवज्जो नहीं दी जा रही है। इस बीच शुक्रवार को साइंस कालेज की हास्टल ग्राउंड में जम्मू के खिलाड़ियों ने अभ्यास में पसीना बहाया। उन्हें कोच बिशन सिंह वेदी ने क्रिकेट में बेहतर प्रदर्शन के गुर सिखाए। उल्लेखनीय है कि इस सीजन में जेकेसीए को अभी छह और रणजी के मुकाबले खेलने हैं।
आंध्र प्रदेश के बाद एक से चार दिसंबर को गुवाहटी में जेकेसीए बनाम असम, केरल में आठ दिसंबर को जेकेसीए बनाम केरल, 15 दिसंबर को पालम दिल्ली में जेकेसीए बनाम सर्विस दिल्ली, 22 दिसंबर को जीजीएम साइंस कालेज, हास्टल ग्राउंड जम्मू में हिमाचल प्रदेश बनाम जेकेसीए और जम्मू में ही 29 दिसंबर को त्रिपुरा बनाम जेकेसीए के बीच भिड़ंत होनी है।

Spotlight

Most Read

National

VHP के पदाधिकारी अब भी तोगड़िया के साथ, फरवरी के अंत तक RSS लेगा ठोस फैसला

संघ की कोशिश अब फरवरी के अंत में होने वाली विहिप की कार्यकारी की बैठक से पहले तोगड़िया की संगठन में पकड़ खत्म करने की है।

22 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: LoC से वापस आई पुंछ - रावलकोट के बीच चलने वाली बस

पुछ को पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू और कश्मीर के रावलकोट से जोड़ने वाली बस को एक बार फिर रोक दिया गया। ये बस सोमवार को पुंछ से रावलकोट जाने के लिए चली, लेकिन एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा की जा रही क्रास बार्डर फायरिंग के मद्देनजर इसे वापस भेज दिया गया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper