23 साल के बाद पोखरीबल मंदिर में बजी घंटियां

Sri nagar Updated Mon, 01 Oct 2012 12:00 PM IST
श्रीनगर। 23 सालों के अंतराल के बाद आज रैनाबाड़ी में स्थित हिंदुओं के एक प्राचीन अमृतकुंड पोखरीबल मंदिर में हवन भंडारे का आयोजन हो सका। केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के सहयोग से रविवार को संपन्न हुई पूजा अर्चना से हिंदू श्रद्धालु ही नहीं, इलाके में रहने वाले मुस्लिम तथा सिख समुदाय के लोग भी खुश नजर आए। राज्य में आतंकवाद पनपने से पूर्व 1988 तक इस पवित्र स्थल पर हवन यज्ञ का पवित्र कार्यक्रम आयोजित होता रहा है। कश्मीरी पंडितों के घाटी से पलायन कर जाने के बाद आतंकी खतरे के कारण लंबे समय तक यहां कोई भव्य समारोह का आयोजन नहीं किया जा सका था।
23 सालों के इंतजार के बाद एक बार फिर मंदिर की घंटियां बज उठीं। एक बड़ी भीड़ ने इसमें भाग लिया। मंदिर परिसर में रात भर हवन चलता रहा। कई पंडितों ने पूरी श्रद्धा तथा हिंदू रीति रिवाज के साथ हवन की आज दोपहर पुर्णाहुति दी। हवन के बाद भंडारे का आयोजन किया गया, जिसमें लगभग हजार के करीब लोगों ने भाग लेकर प्रसाद खाया। आसपास के मुस्लिम भी मंदिर में लौट आई रौनक को देख खुश नजर आए।
मंदिर कमेटी के प्रधान अशोक कुमार रैना ने बताया कि मंदिर में 23 सालों के बाद भव्य हवन यज्ञ का आयोजन संपन्न हो सका है। उनके अनुसार मंदिर का निर्माण 1877 के करीब महराजा रणवीर सिंह ने करवाया था। मंदिर के नीचे शारिका माता के चरण पादुका हैं। 1989 से पूर्व तक साल में दो बार नवरात्रों के दौरान इसमें हवन यज्ञ का आयोजन होता रहा है, लेकिन इस बार लंबे समय के बाद मंदिर में हवन भंडारे का आयोजन किया जा सका। आतंकी हमले के बाद 90 के दशक में मंदिर की सुरक्षा का जिम्मा सेना, सीमा सुरक्षा बल और अब केंद्रीय रिजर्व पुलिस बल के हवाले रहा है। वैसे तो 82 बटालियन की ई कंपनी को इस समय मंदिर की सुरक्षा व्यवस्था के लिए तैनात किया गया है, लेकिन बल के जवान ही लंबे समय से मंदिर की सफाई तथा पूजा अर्चना का कार्य संपन्न करवाने में सहयोग करते रहे हैं।
कंपनी के सहायक कमांडेंट एस सिंगारएवेल कहते हैं कि हम लोग आज मंदिर में लौट आई रौनक से बहुत प्रसन्न है। लगभग चार वर्ष पूर्व मेरी यहां तैनाती हुई थी, लेकिन इतनी रौनक हमने पहले कभी नहीं देखी है। हम चाहते हैं कि शुरू हुआ यह धार्मिक कार्य अब कभी बंद न हो।
पोखरीबल के स्थानीय निवासी रिटायर्ड अधिकारी 80 वर्षीय रतन सिंह बाली का कहना था कि 1990 से पूर्व इस मंदिर में साल में दो बार भव्य कार्यक्रम आयोजित होते थे, जिसमें सभी धर्मों के लोग भाग लिया करते थे।

Spotlight

Most Read

Lucknow

ब्राइटलैंड स्कूल में छात्र को चाकू मारने वाली छात्रा को मिली जमानत

ब्राइटलैंड स्कूल में कक्षा एक के छात्र रितिक शर्मा को चाकू से गोदने की आरोपी छात्रा को जेजे बोर्ड ने 31 जनवरी तक के लिए शुक्रवार को अंतरिम जमानत दे दी।

19 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: LoC से वापस आई पुंछ - रावलकोट के बीच चलने वाली बस

पुछ को पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू और कश्मीर के रावलकोट से जोड़ने वाली बस को एक बार फिर रोक दिया गया। ये बस सोमवार को पुंछ से रावलकोट जाने के लिए चली, लेकिन एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा की जा रही क्रास बार्डर फायरिंग के मद्देनजर इसे वापस भेज दिया गया।

17 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls
  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper