आज और कल घर-घर पिलाई जाएगी पोलियो की खुराक

Rajouri Updated Mon, 20 Jan 2014 05:49 AM IST
राजोरी/पुंछ। पोलियो मुक्त अभियान के तहत सोमवार और मंगलवार को राजोरी और पुंछ जिले में घर-घर जाकर पोलियो की खुराक पिलाई जाएगी। रविवार को पहले दिन दोनों जिलों में बूथों पर पांच साल तक के बच्चों को पोलियो की दवा दी गई। अकेले राजोरी जिले में पहले दिन ही 80 प्रतिशत बच्चों को खुराक दी गई। उधर, पुंछ जिले में भी तय लक्ष्य को पहले दिन ही लगभग पूरा कर लिया गया। अब छूटे बच्चों को सोमवार और मंगलवार को पोलियो की खुराक दी जाएगी।
राजोरी जिले के मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाक्टर राजीव शर्मा ने बताया कि यहां 1,01,223 बच्चों को पोलियो की खुराक देने के लिए 634 बूथ बनाए गए थे। पहले दिन 81,100 बच्चों को खुराक पिला दी गई। अब बचे बच्चों को सोमवार से घर-घर जाकर चिह्नित किया जाएगा और उन्हें दवा दी जाएगी। इसके लिए विशेष टीमें गठित कर दी गई हैं। बर्फीले और हाई रिस्क क्षेत्रों पर विशेष ध्यान रहेगा। जिला अस्पताल में लगाए बूथ में रोटरी क्लब के सदस्यों ने नवजात शिशु को पोलियो की खुराक पिला अभियान की शुरुआत की। जिले के बुद्दल, दरहाल, थन्नामंडी, मंजाकोट, कंडी क्षेत्रों में भी नब्बे प्रतिशत तक बच्चों को पोलियो की खुराक दी गई। उधर, पुंछ जिले भर में स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों ने बताया कि इस बार मौसम ने पूरा साथ दिया। हम लोग 69,549 बच्चाें को दवा पिलाने के लक्ष्य के करीब पहुंचे हैं। शेष को सोमवार और मंगलवार को खुराक पिलाई जाएगी। सुबह जिला अस्पताल में पोलियो खुराक पिलाने की शुरुआत मुख्य चिकित्सा अधिकारी डा. विजय कुमार साहनी ने की। जिला विकास आयुक्त सज्जाद अहमद खान मुख्य अतिथि थे। मुख्य चिकित्सा अधिकारी ने बताया कि जिले में 441 पोलियो बूथ बनाए गए थे, जिन पर 1764 चिकित्सा कर्मियों, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, एनएसएन आदि तैनात रहे।

Spotlight

Most Read

Jharkhand

चारा घोटाला: चाईबासा कोषागार मामले में कोर्ट ने सुनाया फैसला, तीसरे केस में लालू दोषी करार

रांची स्थित विशेष सीबीआई अदालत ने चारा घोटाले के तीसरे मामले में बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री और आरजेडी के अध्यक्ष लालू प्रसाद यादव को दोषी करार दिया है। साथ ही पूर्व सीएम जगन्नाथ मिश्रा को भी दोषी ठहराया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आतंकियों ने जलाया था इस लड़के का घर, कड़ी मेहनत कर बना केएएस टॉपर

हीरा हमेशा कोयले की खान से ही निकलता है। इस बात को एक बार फिर सच कर दिखाया है जम्मू और कश्मीर के अंजुम बशीर खान ने।

27 दिसंबर 2017

आज का मुद्दा
View more polls