आशिक के लिए कराई थी पति की हत्या

Rajouri Updated Mon, 20 Aug 2012 12:00 PM IST
राजोरी। लगभग एक महीना पहले हुए अपहरण और बाद में हत्या के मामले को पुलिस ने सुलझा लिया है। इस मामले में पुलिस ने मृतक की पत्नी सहित दो लोगों को गिरफ्तार किया है। जबकि एक आरोपी अब भी फरार है। पुलिस ने आरोपियों से हत्या के लिए नकद कैश की भी वसूली की है। 26 जुलाई को पुलिस ने जिले के कोकरंका क्षेत्र में एक व्यक्ति के शव को नाले से बरामद किया था। जिसकी पहचान अब्दुल रहमान (पुत्र मक्कन दीन, निवासी कंगलानू) के रूप में हुई थी। अब्दुल 16 अगस्त को लापता हो गया था, लेकिन पुलिस को जांच के बाद पता चला है कि अब्दुल की हत्या उसकी पत्नी के इशारे पर हुई है। हत्या में महिला का तीन लोगों ने साथ दिया।
पुलिस से मिली जानकारी के अनुसार, अब्दुल रहमान जंगलानू गांव में एक मनियारी की दुकान करता था। वह 16 अगस्त को दुकान बंद कर अपने भाई मोहम्मद गफूर के घर गया। यहां से लौटते वक्त उसका अपहरण कर लिया गया। इसके बाद मोहम्मद असलम और मोहम्मद शफी ने मिलकर अब्दुल की हत्या कर उसका शव नाले में फेंक दिया। इसके बाद पुलिस ने जांच करते हुए शक की बुनियाद पर एक अन्य दुकानदार अब्दुल क्यूम से 22 जुलाई को पूछताछ की। उसने पुलिस को बताया कि 17 अगस्त को उसने अब्दुल को कुछ अज्ञात लोगों के साथ जाते देखा था। इसके बाद उसका कुछ अता-पता नहीं। पुलिस को उसकी बातों पर शक हुआ और उसका फोन ट्रैप किया गया। इसके बाद पुलिस ने अब्दुल क्यूम को पकड़ा। यहां उसने सारी सच्चाई पुलिस को बता दी। उसने बताया कि अब्दुल की पत्नी शहनाज के उसके साथ अवैध संबंध थे। दोनों ने उसके पति को रास्ते से हटाने के लिए प्लान बनाया। इसके लिए उन्होंने मोहम्मद असलम और मोहम्मद शफी को 50 हजार रुपए की सुपारी दी थी मामले की जांच कर रहे डीएसपी आपरेशन अयाज शेख ने बताया कि सभी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है। मोहम्मद असलम से 22 हजार रुपए भी बरामद हुए। अभी मोहम्मद शफी गिरफ्त से बाहर है, लेकिन जल्द ही उसको भी पकड़ लिया जाएगा।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

आतंकियों ने जलाया था इस लड़के का घर, कड़ी मेहनत कर बना केएएस टॉपर

हीरा हमेशा कोयले की खान से ही निकलता है। इस बात को एक बार फिर सच कर दिखाया है जम्मू और कश्मीर के अंजुम बशीर खान ने।

27 दिसंबर 2017