सेना ने धूमधाम से मनाया लिंकअप डे

Punch Updated Fri, 23 Nov 2012 12:00 PM IST
पुंछ। सेना की 93 इंफेंट्री ब्रिगेड ने वीरवार को स्थानीय लोगों के साथ मिल कर 64वां लिंकअप धूमधाम से मनाया। इस मौके पर पर जहां सेना के जवानों ने घुड़सवारी, हैलिकाप्टर, पैरामोटर के हैरतअंगेज और साहसिक करतब दिखा कर दर्शकों को दंग कर दिया, वहीं स्कूली बच्चों ने रंगारंग कार्यक्रम से दर्शकों का मन मोह लिया। इस दौरान पुंछ लिंकअप पर लघुनाटक और देश भक्ति गीतों पर नृत्य प्रस्तुत किया गया।
नगर में स्थित सेना के प्रीतम स्टेडियम में पुंछ लिंकअप डे समारोह का आयोजन किया गया, जिसमें बड़ी संख्या में स्कूल बच्चों, पूर्व सैनिकों, सेना के अधिकारियों एवं आम नागरिकों ने भाग लिया।
इस समारोह की अध्यक्षता सेना कि 93 इंफेंट्री ब्रिगेड के कमांडर एमके मागो ने की। जबकि सेना की 25 इंफैन्ट्री डिवीजन के जनरल आफिसर कमांडिंग मेजर जनरल केएच सिंह इसके मुख्य आतिथि रहे। इस मौके पर सर्वप्रथम देश के लिए क्षेत्र में प्राणों की आहुतियां देने वाले जवानों और अधिकारियों की स्मृति में बनाए गए नमन स्थल पर श्रद्धांजलि कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें जीओसी केएच सिंह, ब्रिगेडियर एमके मागो, 10 ब्रिगेड के ब्रिगेडियर तेजिन्दर सिंह संधू, क्षेत्र में तैनात सेना की सभी यूनिटों के कमांडिंग अधिकारियों के अलावा जिला विकास आयुक्त अजीत कुमार साहू, एसएसपी शमशीर हुसैन, एएसपी युगल मनहास, एमएलसी जाहंगीर मीर और विधायक एजाज़ जान ने नमन स्थल पर पुष्पचक्र चढ़ा कर शहीदों को सलामी दी।
उसके बाद कबूतर और रंग-बिरंगे गुब्बरे हवा में उड़ा कर 64वें पुंछ लिंकअप दिवस समारोह की शुरुआत की गई, जिसमें सेना के घुड़सवारों ने ध्वज फहराने के साथ ही कई प्रकार के करतब दिखाए। फिर वायु सेना के हेलिकाप्टर ने भीअपने करतब दिखाए, जिसमें राष्ट्रीय ध्वज के साथ हेलिकाप्टर के साथ खुद को रस्से के बांध कर हवा में उढ़ते हुए दो जवानों ने सलामी दी। उसके साथ ही सेना की पैरा के हवलदार प्रेमसिंह ने पैरामोटर के साथ आकाश में उढ़ने और नीचे उतरने के साहसिक करतब दिखाए। सेना के बैंड के साथ ही 2/4गोरखा रैजिमैंट के जवानों ने लोक नृत्य खोखरी और स्कूली बच्चों ने देश भक्ति गीतों पर रंगारंग कार्यक्रम दिखाया। अंत में हायर सेकेंडरी स्कूल मंडी बच्चों ने पुंछ लिंकअप को लघुनाटक से लोगाें को दिखाया। इस मौके पर जीओसी 25 डिवीजन ने पुंछ लिंकअप में बढ़चढ़ कर भाग लेने के लिए स्थानीय लोगों का आभार व्यक्त किया।
गौरतलब है कि भारत की आजादी के साथ ही जहां राज्य के ज्यादातर क्षेत्र 15 अगस्त 1947 को आजाद हो गए थे, वहीं पुंछ के लोग और जमीन एक वर्ष बाद तक भी कबायलियों के कब्जे थे। क्षेत्र को कबायलियों से खाली करवाते हुए 22 नवंबर 1948 को पुंछ में मौजूद सेना के ब्रिगेडिसर प्रीतम सिंह ने पीड़ित की सेना के साथ डन्नी का पीर में मिलाप करते हुए पुंछ का भारत क ो भारत के साथ जोड़ा था। उसकी की याद में हर वर्ष यहां लिंकअप डे मनाया जाता है।

Spotlight

Most Read

National

पाकिस्तान की तबाही के दो वीडियो जारी, तेल डिपो समेत हथियार भंडार नेस्तनाबूद

सीमा सुरक्षा बल के जवानों ने पाकिस्तानी गोलाबारी का मुंहतोड़ जवाब दिया है। भारत के जवाबी हमले में पाकिस्तान की कई फायरिंग पोजिशन, आयुध भंडार और फ्यूल डिपो को बीएसएफ ने उड़ा दिया है।

23 जनवरी 2018

Related Videos

VIDEO: LoC से वापस आई पुंछ - रावलकोट के बीच चलने वाली बस

पुछ को पाकिस्तान के कब्जे वाले जम्मू और कश्मीर के रावलकोट से जोड़ने वाली बस को एक बार फिर रोक दिया गया। ये बस सोमवार को पुंछ से रावलकोट जाने के लिए चली, लेकिन एलओसी पर पाकिस्तान द्वारा की जा रही क्रास बार्डर फायरिंग के मद्देनजर इसे वापस भेज दिया गया।

17 जनवरी 2018

  • Downloads

Follow Us

Read the latest and breaking Hindi news on amarujala.com. Get live Hindi news about India and the World from politics, sports, bollywood, business, cities, lifestyle, astrology, spirituality, jobs and much more. Register with amarujala.com to get all the latest Hindi news updates as they happen.

E-Paper