फूलों की खेती से बदलेगी तस्वीर

Kathua Updated Sat, 17 Nov 2012 12:00 PM IST
हीरानगर। राज्य के फ्लोरीकल्चर विभाग की तरफ से क्षेत्र के किसानों को फूलों की खेती करने के लिए प्रोत्साहित करने के लिए शुक्रवार को तहसील के गांव छन्न खत्रेयां में एक शिविर का आयोजन किया गया। इस जिला फ्लोरीकल्चर विभाग के सहायक अधिकारी सुनील सिंह सहित विभाग के अधिकारी मौजूद रहे।
शिविर के दौरान फ्लोरीकल्चर विभाग के अधिकारियों ने गांव के किसानों को फूलों की खेती करने के लिए विभाग की तरफ से दी जा रही वभिन्न योजनाओं के बारे में किसानों को विस्तारपूर्वक से बताया। उन्होंने कहा कि फूलों की खेती करने से लोग आर्थिक रूप से मजबूत हो सकते हैं। उन्होंने बताया कि फूलों की खेती के लिये केंद्रीय सरकार की प्रायोजित कई योजनाओं को किसान लाभ उठाकर फूलों की खेती से मोटी कमाई कर सकते हैं। उन्होंने कहा कि केंद्रीय सरकार की तरफ से राज्य के किसानों को फूलों की खेती के लिए बीज, सिंचाई के पानी के लिए बोरवेल, तालाब आदि बनाने के लिए सहायता प्रधान की जा रही है, जिसका किसान लाभ उठा सकते हैं। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही विभाग की तरफ से पाली ग्रीन हाउस, बरमी कंपोस्ट खाद तथा माइक्रो इरिगेशन के लिए किसानों को पचास प्रतिशत से 75 प्रतिशत तक की सब्सिडी देने का प्रावधान है। शिविर के दौरान छन्न खत्रेयां के सरपंच शमशेर सिंह सहित पंच लाल सिंह और पंच मान सिंह ने फ्लोरीकल्चर विभाग के इस जागरूकता शिविर की सराहना की। शिविर के दौरान बडी संख्या में किसानों ने भाग लिया।

Spotlight

Most Read

Bihar

चारा घोटाला: लालू और जगन्नाथ मिश्रा को 5 साल की सजा, कोर्ट ने 5 लाख का लगाया जुर्माना

पूर्व रेल मंत्री और राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के खिलाफ सीबीआई की विशेष अदालत ने बड़ा फैसला सुनाया है।

24 जनवरी 2018

Related Videos

दावोस में 'क्रिस्टल अवॉर्ड' मिलने के बाद सुपरस्टार शाहरुख खान ने रखी 'तीन तलाक' पर अपनी राय

दावोस में 'विश्व आर्थिक मंच' सम्मेलन में बच्चों और एसिड अटैक सर्वाइवर्स के लिए काम करने के लिए क्रिस्टल अवॉर्ड से नवाजे गए बॉलीवुड अभिनेता शाहरुख खान..

24 जनवरी 2018

आज का मुद्दा
View more polls