लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Union Minister Ashwini Vaishnaw says India is becoming technology generator from technology consumer

Atmanirbhar Bharat: प्रौद्योगिकी का जनक बन रहा देश, अश्विनी वैष्णव बोले- आठ साल में भारत ने तय की विकास यात्रा

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: शिव शरण शुक्ला Updated Thu, 01 Dec 2022 04:58 AM IST
सार

केंद्रीय आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने कहा कि पिछले आठ सालों में देश के स्टार्टअप इकोसिस्टम ने वास्तविक विकास यात्रा की है। इस यात्रा के दौरान भारत प्रौद्योगिकी उपभोक्ता के विचार से ऊपर उठा है। आज भारत प्रौद्योगिकी उपभोक्ता से प्रौद्योगिकी जनक बन रहा है।
 

रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव।
रेल मंत्री अश्विनी वैष्णव। - फोटो : प्रयागराज

विस्तार

भारत बड़ी तेजी से प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में विकास कर रहा है। आज स्थिति ये है कि भारत प्रौद्योगिकी उपभोक्ता से प्रौद्योगिकी जनक बनता जा रहा है। केंद्रीय मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को एक कार्यक्रम के दौरान अपने संबोधन में ये बात कही। उन्होंने कहा कि भारत उपभोक्तावाद वाली सोच से ऊपर उठकर विकास की ओर बढ़ रहा है। हमारे देश में स्टार्टअप के रूप में इसकी वास्तविक परिपक्वता देखी जा सकती है।



गौरतलब है कि राजधानी दिल्ली में स्टार्टअप्स को लेकर एक नेशनल कॉनक्लेव का आयोजन किया गया था। इसमें केंद्रीय आईटी मंत्री अश्विनी वैष्णव ने संबोधन दिया। उन्होंने कहा कि पिछले आठ सालों में देश के स्टार्टअप इकोसिस्टम ने वास्तविक विकास यात्रा की है। इस यात्रा के दौरान भारत प्रौद्योगिकी उपभोक्ता के विचार से ऊपर उठा है। आज भारत प्रौद्योगिकी उपभोक्ता से प्रौद्योगिकी जनक बन रहा है।

 
उन्होंने कहा कि जापान, जर्मनी और फ्रांस आदि देशों में दुनिया के सबसे बेहतरीन ट्रेनें थीं। भारत में उस तरह के ट्रेन प्रोजेक्ट के लिए पीएम मोदी के नेतृत्व में भारत में भी प्रोजेक्ट की शुरुआत की गई। पीएम मोदी ने अपने देश के इंजीनियरों, विशेषज्ञों से कहा कि वे विश्व स्तर की ट्रेन का निर्माण भारत में करें। जिसके बाद भारत में वंदेभारत जैसी ट्रेन का निर्माण हुआ। इस दौरान उन्होंने प्रोद्योगिकी के क्षेत्र के विकास के लिए जोर देते हुए कहा कि आज भारत पहले से ज्यादा मंजबूत और आत्म निर्भर बन रहा है। 

डिजिटल अर्थव्यवस्था में दो साल में एक करोड़ से ज्यादा होंगी नौकरियां: वैष्णव सरकार ने डिजिटल अर्थव्यवस्था के तीन क्षेत्रों में दो साल में रोजगार का आंकड़ा एक करोड़ पार ले जाने का लक्ष्य रखा है। इन क्षेत्रों में स्टार्टअप, इलेक्ट्रॉनिक्स और आईटी व आईटी आधारित सेवाएं शामिल हैं। आईटी व दूरसंचार मंत्री अश्विनी वैष्णव ने बुधवार को एक कार्यक्रम में कहा, डिजिटल अर्थव्यवस्था के इन तीन बड़े स्तंभों ने 88-90 लाख नौकरियां पैदा की हैं। उन्होंने कहा, पहले स्टार्टअप के लिए कुछ शहरों का जिक्र होता था। अब जब मैं गांवों में स्कूल जाता हूं तो वहां के बच्चे स्टार्टअप लगाना चाहते हैं। यह बदलाव आया है। भारत अब प्रौद्योगिकी उपभोक्ता से प्रौद्योगिकी निर्माता बन रहा है। सॉफ्टवेयर टेक्नोलॉजी पार्क ऑफ इंडिया स्टार्टअप के लिए तमाम सुविधाएं मुहैया करा रहा है।
1000 इंजीनियर नियुक्त करेगी सैमसंग
सैमसंग इंडिया देशभर में अपने शोध एवं विकास (आरएंडडी) संस्थानों के लिए 1,000 इंजीनियरों की नियुक्ति करेगी। नियुक्ति आईआईटी और अन्य शीर्ष संस्थानों से की जाएगी।  एचएंडएम 1500 लोगों की करेगी छंटनी
लागत घटाने के लिए दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी फैशन रिटलेर कंपनी 1,500 कर्मचारियों की छंटनी करेगी।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00