लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Union Home Minister Amit Shah said states provide medical and technical education in Hindi Elon Musk Twitter

Big News: शाह बोले- तकनीकी व चिकित्सा की शिक्षा हिंदी में हो, 'मस्क के हाथ में ट्विटर सुरक्षित नहीं '

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: वीरेंद्र शर्मा Updated Thu, 01 Dec 2022 06:20 AM IST
सार

ट्विटर में ट्रस्ट व सुरक्षा विभाग के पूर्व प्रमुख रहे योएल रोथ ने कहा है कि यह कंपनी नए मालिक एलन मस्क के हाथ में सुरक्षित नहीं है। हिंदी और क्षेत्रीय भाषाओं में शिक्षा की महत्ता पर जोर देते हुए शाह ने कहा कि अगर छात्रों को उनकी मातृ भाषा में पढ़ाया जाए तो उनमें आसानी से मौलिक चिंतन की प्रक्रिया विकसित हो सकती है।

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह।
केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह। - फोटो : अमर उजाला

विस्तार

अहमदाबाद में गृह मंत्री अमित शाह ने कहा है कि राज्यों को चिकित्सा, तकनीक और कानून के क्षेत्र में हिंदी या क्षेत्रीय भाषाओं में शिक्षा को बढ़ावा देने की पहल करनी चाहिए। ताकि देश गैर-अंग्रेजी भाषी छात्रों की प्रतिभा का इस्तेमाल कर सके। हिंदी और क्षेत्रीय भाषाओं में शिक्षा की महत्ता पर जोर देते हुए शाह ने कहा कि अगर छात्रों को उनकी मातृ भाषा में पढ़ाया जाए तो उनमें आसानी से मौलिक चिंतन की प्रक्रिया विकसित हो सकती है और इससे अनुसंधान तथा नवोन्मेष को बढ़ावा मिलेगा। शाह ने एक साक्षात्कार में कहा, मातृ भाषा में शिक्षा ग्रहण करने से उच्च शिक्षा में देश की प्रतिभा को बढ़ावा मिलेगा। आज हम देश की केवल पांच प्रतिशत प्रतिभा का इस्तेमाल कर पाते हैं, लेकिन इस पहल के साथ हम देश की 100 फीसदी प्रतिभा का इस्तेमाल कर पाएंगे। 


वाशिंगटन:एलन मस्क के हाथ में ट्विटर सुरक्षित नहीं
ट्विटर में ट्रस्ट व सुरक्षा विभाग के पूर्व प्रमुख रहे योएल रोथ ने कहा है कि यह कंपनी नए मालिक एलन मस्क के हाथ में सुरक्षित नहीं है। रोथ ने इस्तीफा देने के बाद अपने पहले साक्षात्कार में चेतावनी दी कि इस माह कंपनी के पास सुरक्षा कार्य के लिए पर्याप्त कर्मचारी तक नहीं रहे हैं। रोथ ने कहा कि मस्क ने ट्विटर पर पतवार संभालने से पहले वैश्विक स्तर पर लगभग 2,200 लोगों को कंटेंट मॉडरेशन कार्य पर केंद्रित किया था। अधिग्रहण के बाद की संख्या उन्हें नहीं पता क्योंकि निर्देशिका बंद कर दी गई है। 


नई दिल्ली: व्हाट्सएप ने भारत में 23.24 लाख खातों पर लगाया प्रतिबंध
मेटा-स्वामित्व वाले व्हाट्सएप ने बुधवार को कहा कि उसने नए आईटी नियम 2021 के अनुपालन में अक्तूबर में भारत में 23.24 लाख खातों पर प्रतिबंध लगा दिया है, जिन्हें सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर अधिक जिम्मेदारियां डालने के लिए संशोधित किया गया।  कंपनी ने कहा, एक से 31 अक्तूबर के बीच, 23,24,000 व्हाट्सएप खातों पर प्रतिबंध लगाा गया और इनमें से 8,11,000 खातों पर सख्ती से प्रतिबंधित लगा दिया गया है। सितंबर में 26.24 खातों पर प्रतिबंध लगाया गया था। नए आईटी नियम 2021 के तहत, 50 लाख से अधिक उपयोगकर्ताओं वाले प्रमुख डिजिटल और सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म को मासिक अनुपालन रिपोर्ट प्रकाशित करनी होगी। 

पुणे: समुद्री सुरक्षा के लिए महिला नाविकों की शुरू हुई तैनाती 
भारतीय नौसेना में पहले से ही महिला लड़ाकू पायलट और अधिकारी मौजूद हैं। अब महिला नाविकों की तैनाती भी शुरू कर दी गई है, जो पुरुषों के साथ कदम मिलाकर देश की समुद्री सुरक्षा को मजबूती देने के लिए तैयार हैं। नौसेना प्रमुख एडमिरल आर हरि कुमार ने बताया कि जिन शाखाओं में महिला सैनिक नहीं हैं, उन्हें भी अगले वर्ष खोला जा रहा है। पुणे के खड़कवासला में नेशनल डिफेंस एकेडमी (एनडीए) की पासिंग आउट परेड में नौसेना प्रमुख ने भारतीय सैन्य सेवाओं को लैंगिक भेदभाव रहित बताया। उन्होंने कहा कि नौसेना में 3 हजार भर्तियों के लिए 10 लाख आवेदन आए हैं। इनमें से 82 हजार आवेदक महिलाएं हैं। नौसेना प्रमुख ने कहा, यह उपलब्धि एक मील का पत्थर है। भर्तियों के बारे में कहा कि 82 हजार महिला आवेदकों में से कितनी तय मानकों पर खरी उतरेंगी, यह अभी कहना मुश्किल है।

नई दिल्ली: फर्जी आईपीएस मामला : टीआरएस मंत्री  सांसद को सीबीआई ने किया तलब
केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) ने बुधवार को तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के मंत्री गंगुला कमलाकर और राज्यसभा सांसद वद्दीराजू रविचंद्रा को  पूछताछ के लिए तलब किया है। दिल्ली के तमिलनाडु भवन से गिरफ्तार किए गए फर्जी सीबीआई अधिकारी से कथित रूप से जुड़े  पाए जाने के बाद एजेंसी ने दोनों को बृहस्पतिवार सुबह पेश होने का नोटिस भेजा है। अधिकारी ने बताया कि सीबीआई की टीम ने करीमनगर स्थित मंत्री गंगुला के आवास पर पहुंचकर नोटिस दिया। वहीं दूसरी टीम ने सांसद रविचंद्र को नोटिस भेजा। 

बगलकोट: 187 सिक्के निगल गया शख्स, सर्जरी कर निकाले 
कर्नाटक के रायचूर में एक शख्स ने 187 सिक्के निगल लिए। जब पेट में दर्द हुआ और उल्टियां होने लगीं तो परिजन उसे लेकर अस्पताल पहुंचे। यहां सिक्के निकालने के लिए उसकी सर्जरी हुई। यह शख्स  सिजोफ्रेनिया से पीड़ित था और उसने दो-तीन महीने के दौरान यह सिक्के निगले थे। बगलकोट के हनगल श्री कुमारेश्वर अस्पताल में इस शख्स दयमप्पा हरिजन की सर्जरी करीब दो घंटे चली। इलाज कर रहे चिकित्सकों में शामिल डॉ. ईश्वर कालबुर्गी ने बताया कि एक्सरे व एंडोस्कोपी में उसके पेट में यह सिक्के नजर आए। इतने सिक्के निगल लेना एक दुर्लभ मामला है। दयमप्पा सिजोफ्रेनिया से पीड़ित है, ऐसे मनोरोग में मरीज को अक्सर पता नहीं चलता कि वह क्या कर रहा है।
विज्ञापन

संयुक्त राष्ट्र: यूएनएससी की अध्यक्षता से पहले कांबोज ने की गुटेरस से मुलाकात  
संयुक्त राष्ट्र। दिसंबर माह में भारत के संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की अध्यक्षता संभालने की तैयारियों के बीच यूएन में भारतीय दूत रुचिरा कांबोज ने महासचिव एंतोनियो गुटेरस से मुलाकात की और विश्व निकाय की अध्यक्षता के दौरान की प्राथमिकताओं पर चर्चा की। भारत एक दिसंबर से यूएनएससी की मासिक आधार पर बदलने वाली अध्यक्षता संभालेगा। यह अगस्त 2021 के बाद दूसरी बार होगा, जब वह एक निर्वाचित यूएनएससी सदस्य के रूप में अपने दो साल के कार्यकाल के दौरान परिषद की अध्यक्षता करेगा।

माले: भारत से मदद मिलने पर मालदीव ने कहा, शुक्रिया  
मालदीव ने उसे आर्थिक चुनौतियों से निपटने के लिए 10 करोड़ डॉलर की वित्तीय सहायता देने पर भारत का आभार जताया है। मालदीव के विदेश मंत्री अब्दुल्ला शाहिद ने कहा, यह दोनों देशों के बीच अच्छी दोस्ती है जो इतिहास रच रही है। विदेश मंत्रालय में आयोजित समारोह में भारत के उच्चायुक्त मुनु महावर ने सांकेतिक चेक सौंपा। विदेश मंत्री एस. जयशंकर इस कार्यक्रम में वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से जुड़े। 

भारत और अमेरिका का चाय से गहरा नाता : राजदूत संधू
अमेरिका में भारत के राजदूत तरणजीत सिंह संधू ने कहा है कि भारत और अमेरिका का चाय के साथ गहरा नाता रहा है और दोनों लोकतांत्रिक देशों के लोगों का इस पेय को लेकर समान प्रेम रहा है। यहां भारतीय दूतावास में चाय प्रेमियों को समर्पित एक कार्यक्रम में संधू ने भारतीय लोगों के लिए चाय के महत्व और अमेरिकी क्रांति से इसके संबंध की चर्चा की। कहा, चाय का संबंध ईस्ट इंडिया कंपनी और हमारे स्वतंत्रता संग्राम से भी है। 

जिनेवा: दुनियाभर में चोट और हिंसा से रोजाना हो रहीं 12,000 मौतें
दुनियाभर में रोजाना 12 हजार लोगों की जान चोट लगने और हिंसा के कारण जा रही है। विश्व स्वास्थ्य संगठन की रिपोर्ट में कहा गया कि 5 साल से 29 साल तक के लोगों की मौत के तीन मुख्य कारण- सड़क दुर्घटना, हत्या और आत्महत्या हैं। इसके अलावा डूूबने, गिरने, जलने और जहर से मौते हैं। सालाना 44 लाख मौतें चोटों से होती हैं। तीन मौतों में से एक सड़क दुर्घटना में, 6 में से एक आत्महत्या में, 9 में से एक हत्या और 61 में से एक मौत लड़ाई से होती है। डब्ल्यूएचओ के मुताबिक गरीबी में रहने वाले लोगों को अमीरों की तुलना में चोट लगने की संभावना अधिक होती है। एजेंसी

दोहा: कतर में 400 से 500 प्रवासी कामगारों ने गंवाई थी जान 
कतर में प्रवासी कामगारों के वेतन रोकने और नौकरी बदलने पर मोटी रकम वसूलने के खिलाफ आवाजें उठती रही हैं। इस बार भी फीफा विश्वकप-2022 के लिए स्टेडियम और अन्य तैयारियों के दौरान मानवाधिकारों के उल्लंघन का मामला प्रवासी कामगारों की मौत तक पहुंच गया है। कतर के एक आला अधिकारी ने माना कि तैयारियों में 400 से 500 प्रवासी कामगारों की मौत हुई थी। ब्रिटेन के गार्जियन अखबार ने पिछले साल एक रिपोर्ट में कहा था कि कतर को फुटबाल विश्वकप की मेजबानी मिलने के बाद से कम से कम 6,500 प्रवासी कामगारों की मौत हुई है। इनमें बड़ी संख्या में कामगार विश्वकप की तैयारियों से जुड़ी परियोजनाओं पर काम कर रहे थे। हालांकि, कतर में विश्वकप के आयोजन के लिए गठित सर्वोच्च समिति डिलीवरी एंड लीगेसी ने इन खबरों को खारिज किया था। अब डिलीवरी एंड लीगेसी समिति के महासचिव हसन अल थावडी ने ब्रिटेन के टीवी पत्रकार पीयर्स मॉरगन के साथ साक्षात्कार में कहा है कि विश्वकप से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं में काम करने वाले लगभग 400 से 500 प्रवासी कामगारों की मौत हुई थी।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

Election
एप में पढ़ें
जानिए अपना दैनिक राशिफल बेहतर अनुभव के साथ सिर्फ अमर उजाला एप पर
अभी नहीं

प्रिय पाठक

कृपया अमर उजाला प्लस के अनुभव को बेहतर बनाने में हमारी मदद करें।
डेली पॉडकास्ट सुनने के लिए सब्सक्राइब करें

क्लिप सुनें

00:00
00:00