यूआईडी सिस्टम सुरक्षित और आतंकवादियों को रोकने में सक्षम: यूआईडीएआई सीईओ

amarujala.com- Presented by: जया पाण्डेय Updated Sun, 07 May 2017 09:52 AM IST
UIDAI CEO says UID systems are secure and will deter terrorists and money launderers
आधार कार्ड
नकली पहचान से आधार कार्ड पाने के बाद डेटा लीक करने से सुरक्षा का खतरा हमेशा बना रहता है। भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण (यूआईडीएआई) के सीईओ अजय भूषण पाण्डेय ने इस बाबत कहा कि यूआईडी सिस्टम पूरी तरह से सुरक्षित हैं और आतंकवादियों, मनी लॉन्डर्स को रोकने में सक्षम है।
नकली आधार आईडी का इस्तेमाल नकली राशन या वोटर आईकार्ड के मुकाबले अपराधियों के लिए अधिक खतरनाक साबित होगा क्योंकि बायोमेट्रिक डेटा एक व्यक्ति को अधिक निश्चितता के साथ पहचान सकती है। पांडे ने बताया कि अगर किसी व्यक्ति को फर्जी पहचान के साथ आधार मिला है, तो वह अपनी पूरी जिंदगी उस फर्जी पहचान के साथ फंस जाएगा।।

अगर कोई शख्स कोई अपराध या आतंकवाद फैलाने की योजना बना रहा है और आधार कार्ड के इस्तेमाल से बैंक खाता खोलना चाहता है तो अधिकारियों को उसे ट्रैक करना ज्यादा आसान होता है। 

कुछ सरकारी एजेंसियों के साथ कथित गोपनीयता भंग पर पांडे ने तर्क दिया कि उनकी वेबसाइटों पर आधार से जुड़ी जानकारी प्रदर्शित करने का मतलब यह नहीं है कि बॉयोमैट्रिक्स से समझौता कर लिया गया है। उन्होंने कहा, "यह कहना है कि आधार का उल्लंघन हुआ है या गोपनीयता खतरे में है, गलत है इसके अलावा ये भ्रामक और गैर जिम्मेदाराना भी है।"

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News App, iOS Hindi News App और Amarujala Hindi News APP अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

एक अप्रैल से देशभर में ई-वे बिल लागू करने की सिफारिश

इस व्यवस्था के सफलतापूर्वक अमल में आने के बाद चरणबद्ध तरीके से राज्यों के अंदर लागू किया जाएगा।

25 फरवरी 2018

Related Videos

डेढ घंटे बर्फ में दबे रहने के बाद जीवित निकला ये शख्स

केलांग में आए एवलॉन्च में तीन लोग दब गए। घटना रोहतांग टनल के नॉर्थ पोर्टल में हुई। यहां बीआरओ ऑफिसर इस एललॉन्च के चपेट में आ गए।

24 फरवरी 2018

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen