लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Tripura Election 2023: BJP seeking votes from UP Model in Tripura too

Tripura Election 2023: त्रिपुरा में भी 'यूपी मॉडल' से वोट मांग रही BJP, फिर विपक्ष की नाकामी के भरोसे भाजपा

Amit Sharma Digital अमित शर्मा
Updated Tue, 07 Feb 2023 05:43 PM IST
सार

Tripura Election 2023: भाजपा ने यह रणनीति त्रिपुरा जैसे उसी राज्य में ही नहीं अपनाई है, जहां उसे पहली बार सरकार बनाने का अवसर मिला है। पिछले वर्ष नवंबर-दिसंबर महीने में संपन्न हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में भी भाजपा ने यही रणनीति अपनाई थी, जहां वह करीब ढाई दशक से सत्ता में है...

Tripura Election 2023: BJP seeking votes from UP Model in Tripura too
Tripura Election 2023- Home Minister Amit Shah and CM Manik Saha addressing public meetings in Tripura - फोटो : Agency

विस्तार

वर्ष 2022 में हुए उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के दौरान भाजपा ने अपनी सत्तारूढ़ योगी आदित्यनाथ सरकार की उपलब्धियों की बजाय अखिलेश सरकार की नाकामियों को जमकर उछाला था। उसने अखिलेश यादव सरकार में अपराध और भ्रष्टाचार को मुद्दा बनाया और उसे इसका लाभ मिला। भाजपा उत्तर प्रदेश में एक बार फिर पूर्ण बहुमत की सरकार बनाने में सफल रही। भाजपा इसी 'यूपी मॉडल' पर त्रिपुरा में भी वोट मांग रही है। पांच साल सफलतापूर्वक सरकार चलाने के बाद भी उसकी चुनावी सभाओं में पिछली वाम दलों की सरकार की 'असफलताओं' को जमकर उछाला जा रहा है। आंतरिक असुरक्षा, आतंकवाद और 'तोलाबाजी' के मुद्दे पर भाजपा जमकर हमलावर है। भाजपा को उम्मीद है कि इन मुद्दों के सहारे पूर्वोत्तर के इस राज्य में भाजपा एक बार फिर सरकार बनाने में सफल रहेगी।

भाजपा ने यह रणनीति त्रिपुरा जैसे उसी राज्य में ही नहीं अपनाई है, जहां उसे पहली बार सरकार बनाने का अवसर मिला है। पिछले वर्ष नवंबर-दिसंबर महीने में संपन्न हुए गुजरात विधानसभा चुनाव में भी भाजपा ने यही रणनीति अपनाई थी, जहां वह करीब ढाई दशक से सत्ता में है। यहां भी भाजपा ने मतदाताओं को लंबे समय से सत्ता से बाहर कांग्रेस की असफलताओं को जमकर उठाया और रिकॉर्ड सफलता प्राप्त की। क्या भाजपा नेताओं को अपनी सरकार की उपलब्धियों से ज्यादा विपक्षी दलों की असफलता पर भरोसा रहता है?

शाह ने त्रिपुरा में उठाया ये मुद्दा

गृहमंत्री अमित शाह ने सोमवार को त्रिपुरा में एक जनसभा को संबोधित किया। इसमें उन्होंने जनता को पिछली वाम सरकार की असफलताओं से सावधान किया। शाह ने कहा कि यदि राज्य में दोबारा वाम दलों की सरकार आती है, तो राज्य में 'तोलाबाजी' (किसी काम को करने के बदले में मांगा जाने वाला कमीशन) शुरू हो जाएगी। चूंकि, ममता बनर्जी की तृणमूल कांग्रेस भी इस बार त्रिपुरा में किस्मत आजमा रही है, और उसके कार्यकर्ताओं पर इसी तरह के आरोप बंगाल में लगते हैं, भाजपा नेता अमित शाह का तोलाबाजी का आरोप वाम दल के साथ-साथ ममता बनर्जी को निशाने पर लेने के लिए भी था।

विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

Followed