लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Then Bengal and now Maharashtra, Crores of rupees seized in ED and IT raids

Corruption and Raids: पहले बंगाल और अब महाराष्ट्र...छापेमारी में लगा नोटों का ढेर, जिसने देखा वो हैरान

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: Amit Mandal Updated Thu, 11 Aug 2022 11:25 PM IST
सार

जालना में हुई छापेमारी के दौरान कमरे में नोटों का ढेर बंगाल में अर्पिता के फ्लैट जैसे नजारे की याद दिला रहा था। बताया जा रहा है कि यहां टीम ने कुल 390 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता लगाया है। 

महाराष्ट्र के जालना में 56 करोड़ की नकदी जब्त
महाराष्ट्र के जालना में 56 करोड़ की नकदी जब्त - फोटो : ANI
ख़बर सुनें

विस्तार

ज्यादा दिन नहीं बीते हैं जब पश्चिम बंगाल में पार्थ चटर्जी की करीबी अर्पिता मुखर्जी के घर से ईडी छापेमारी में करीब 56 करोड़ रुपये बरामद हुए थे। फ्लैट में 2000 के नोटों का ढेर लग गया था। जिसने भी ये मंजर देखा वो हैरान रह गया। हर तरफ इसकी ही चर्चा थी। लेकिन इस घटना के कुछ दिनों बाद ही महाराष्ट्र में भी वैसा ही नजारा आज दिखा। आयकर विभाग की छापेमारी में 58 करोड़ रुपये मिले। इन रुपयों गिनने में टीम को पूरा दिन लग गया। कमरे में नोटों का ढेर बंगाल में अर्पिता के फ्लैट जैसे नजारे की याद दिला रहा था। यहां टीम ने कुल 390 करोड़ रुपये की संपत्ति का पता लगाया। 




आयकर टीम ने जालना में छापेमारी की 
आयकर टीम ने महाराष्ट्र के जालना में शंभाजी महाराज नगर में इस छापेमारी को अंजाम दिया। छापेमारी का तरीका पूरी तरह फिल्मी थी। आरोपियों ने सपने में भी इसकी कल्पना नहीं की होगी। जिले में आयकर विभाग के अधिकारी बराती बनकर पहुंचे थे। एक सप्ताह तक छापे की कार्रवाई की गई। शुरू के तीन दिन तक स्थानीय पुलिस को भी इसकी भनक नहीं लगी। अब तक करीब आधा दर्जन व्यावसायिक प्रतिष्ठानों से 390 करोड़ की संपत्ति जब्त की जा चुकी है।



स्टील कारोबारियों पर छापेमारी 
सूत्रों के अनुसार, विभाग को स्टील कारोबार और फैक्ट्रियों के एक बड़े केंद्र जालना की चार कंपनियों छत्रपति शंभाजी महाराज नगर के व्यवसायी व प्रापर्टी डीलर द्वारा आयकर चोरी की भनक लगी थी। ठोस सूचनाओं के आधार पर आयकर विभाग के 260 अधिकारियों की बड़ी टीम 120 कारों में छापा मारने इन कंपनियों में जा धमकी। इन 120 कारों के काफिले में हर कार पर ‘दुल्हन हम ले जाएंगे’ का स्टीकर लगा था, ताकि देखने वालों के लगे कि कोई बारात जा रही है। तीन अगस्त को एक टीम जालना के बाहरी इलाके में स्थित एक फार्म हाउस पर पहुंची और छापे की कार्रवाई शुरू की।

करीब आधा दर्जन प्रतिष्ठानों, उनके मालिकों व कर्मचारियों के विभिन्न ठिकानों व उनके बैंक लाकरों से आयकर विभाग को 58 करोड़ रुपए नकद, 32 किलो सोना तथा कई बेनामी संपत्तियों के कागजात बरामद हुए हैं। इनकी कुल कीमत अब तक 390 करोड़ बताई जा रही है। इतनी बड़ी मात्रा में मिली नकद राशि को गिनने के लिए सारा रुपया स्थानीय स्टेट बैंक की शाखा में ले जाया गया, जहां इसे गिनने में कुल 13 घंटे लगे। तीन अगस्त से शुरू हुई छापे की यह कार्रवाई आठ अगस्त तक चलती रही।