आरएसएस विरोधी नहीं थे शास्त्री, गोलवलकर से लेते थे सलाह: आडवाणी

एजेंसी, नई दिल्ली Updated Thu, 25 Jan 2018 04:44 AM IST
लाल कृष्ण आडवाणी
लाल कृष्ण आडवाणी - फोटो : pti
ख़बर सुनें
भाजपा के वरिष्ठ नेता लाल कृष्ण आडवाणी ने राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ (आरएसएस) के साथ भारत के दो पूर्व प्रधानमंत्रियों के रिश्तों को लेकर कुछ दावे किए हैं। उन्होंने कहा कि पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्त्री, जवाहर लाल नेहरू की तरह आरएसएस के वैचारिक विरोधी नहीं थे बल्कि प्रधानमंत्री कार्यकाल के दौरान संगठन प्रमुख गुरु गोलवलकर से सलाह लेते थे।
आरएसएस की साप्ताहिक पत्रिका ऑर्गेनाइजर की 70वीं वर्षगांठ पर लिखे एक लेख में आडवाणी ने शास्त्री को एक समर्पित कांग्रेस कार्यकर्ता बताया है। आडवाणी ने कहा कि शास्त्री जी ने व्यक्तिगत गुणों से देश का सम्मान पाया। उन्होंने कहा कि नेहरू की तरह जन संघ या आरएसएस के खिलाफ शास्त्री जी कोई वैचारिक विरोध नहीं रखते थे। वे अक्सर राष्ट्रीय मुद्दों पर सलाह-मशवरे के लिए श्री गुरुजी को आमंत्रित करते थे। यह लेख आडवाणी की आत्मकथा ‘माई कंट्री माई लाइफ’ का हिस्सा है। बता दें कि आडवाणी सहायक संपादक के तौर पर 1960 में ऑर्गेनाइजर से जुड़े थे। 
 

RELATED

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

Spotlight

Most Read

India News

कर्नाटक: येदियुरप्पा ने दिया सीएम पद से इस्तीफा, बुधवार को कुमारस्वामी का शपथ ग्रहण

कर्नाटक विधानसभा में आज शाम चार बजे होने वाले बहुमत परीक्षण की उलटी गिनती शुरू हो चुकी है।

19 मई 2018

Related Videos

VIDEO: कांग्रेस पर ऐसे बरसे BJP अध्यक्ष अमित शाह

गुवाहाटी में भारतीय जनता पार्टी के अध्यक्ष अमित शाह के पूर्वोत्तर डेमोक्रेटिक एलायंस के तीसरे सम्मेलन का उद्घाटन करने के दौरान प्रदर्शन हुआ।

21 मई 2018

आज का मुद्दा
View more polls

अमर उजाला ऐप चुनें

सबसे तेज अनुभव के लिए

क्लिक करें Add to Home Screen