लोकप्रिय और ट्रेंडिंग टॉपिक्स

विज्ञापन
Hindi News ›   India News ›   Rajya Sabha approved three bills including the budget amidst uproar by the opposition on the Adani issue

Rajya Sabha: बजट समेत तीन विधेयकों पर 11 मिनट में लगी मुहर, धनखड़ बोले- चर्चा का समय यूज न होना दुर्भाग्यपूर्ण

न्यूज डेस्क, अमर उजाला, नई दिल्ली Published by: वीरेंद्र शर्मा Updated Tue, 28 Mar 2023 07:00 AM IST
सार

हंगामे के कारण इनमें से किसी विधेयक पर एक पंक्ति की भी चर्चा नहीं हो पाई। महज ग्यारह मिनट में तीनों विधेयकों को पारित कर वापस लोकसभा को भेज दिया गया।

Rajya Sabha approved three bills including the budget amidst uproar by the opposition on the Adani issue
राज्यसभा के सभापति जगदीप धनखड़। - फोटो : ANI

विस्तार

राज्यसभा ने सोमवार को अदाणी मुद्दे पर विपक्ष के भारी हंगामे और नारेबाजी के बीच एकसाथ ही जम्मू-कश्मीर बजट, वित्त विधेयक और विनियोग विधेयक पर मुहर लगा दी। हंगामे के कारण इनमें से किसी विधेयक पर एक पंक्ति की भी चर्चा नहीं हो पाई। महज ग्यारह मिनट में तीनों विधेयकों को पारित कर वापस लोकसभा को भेज दिया गया। इन विधेयकों को लोकसभा में पहले ही पारित कराया जा चुका है। राज्यसभा की ओर से संशोधित वित्त विधेयक को लोकसभा से मंजूरी देने के साथ ही बजट को पारित कराने की प्रक्रिया पूरी हो गई।


उच्च सदन में दोपहर दो बजे जब सदन की कार्यवाही दोबारा शुरू हुई तो विपक्षी सदस्य पहले की तरह नारेबाजी करने लगे। इसी दौरान सभापति जगदीप धनखड़ ने पहले जम्मू-कश्मीर बजट, विनियोग विधेयक और इसके बाद वित्त विधेयक को पारित कराया। भारी शोरशराबे के बीच वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने पेंशन व्यवस्था को दुरुस्त करने के लिए लोकसभा में उनकी ओर से किए गए समिति गठन के प्रस्ताव की जानकारी दी। विधेयकों को पारित कराने के बाद उन्होंने सदस्यों से सदन चलने देने की अपील की। हालांकि, हंगामा जारी रहने के कारण सभापति ने सदन की कार्यवाही दिनभर के लिए स्थगित कर दी। सभापति धनखड़ ने वित्त विधेयक पर सदन में चर्चा के लिए निर्धारित 10 घंटे का सदस्यों के उपयोग नहीं करने को दुर्भाग्यपूर्ण बताया।


सरकार ने निपटाए बजट सत्र से जुड़े सभी अहम काम
बजट सत्र के दूसरे चरण की सभी दस बैठकें हंगामे के नाम रहीं। हालांकि, विपक्ष से तकरार के बीच सरकार ने सभी अहम कामकाज निपटा लिए हैं। सरकार की सबसे बड़ी चिंता वित्त विधेयक, जम्मू-कश्मीर का बजट, विनियोग विधेयक और मंत्रालयों की अनुदान मांगें थीं। इन्हें हर हाल में 31 मार्च तक पारित कराया जाना जरूरी था। तकरार के बीच सरकार ने बीते हफ्ते ही इस ओर ध्यान देना शुरू किया। पहले हंगामे के बीच लोकसभा और सोमवार को राज्यसभा में वित्त प्रबंधन से जुड़े सभी अहम कार्य निपटा लिए।
विज्ञापन
विज्ञापन

रहें हर खबर से अपडेट, डाउनलोड करें Android Hindi News apps, iOS Hindi News apps और Amarujala Hindi News apps अपने मोबाइल पे|
Get all India News in Hindi related to live update of politics, sports, entertainment, technology and education etc. Stay updated with us for all breaking news from India News and more news in Hindi.

विज्ञापन
विज्ञापन

एड फ्री अनुभव के लिए अमर उजाला प्रीमियम सब्सक्राइब करें

फॉन्ट साइज चुनने की सुविधा केवल
एप पर उपलब्ध है

बेहतर अनुभव के लिए
4.3
ब्राउज़र में ही
एप में पढ़ें

क्षमा करें यह सर्विस उपलब्ध नहीं है कृपया किसी और माध्यम से लॉगिन करने की कोशिश करें

Followed